एक हेलीकॉप्टर क्रैश में साल 2020 में अमेरिका के स्टार बास्केटबॉल प्लेयर और सेलिब्रेटी कोबे ब्रायंट की मौत हुई थी। क्रैश के बाद सरकारी एजेंसियों ने उनकी फोटोज शेयर कर दी थी। इसके बाद कोबे ब्रायंट की पत्नी ने फोटो शेयर किए जाने के खिलाफ मुकदमा कर दिया और हर्जाने की मांग की। कोर्ट ने विधवा को करीब 250 करोड़ रुपए हर्जाना देने का फैसला सुनाया। अब करीब 130 करोड़ रुपए की पहली किश्त कोबे की पत्नी वैनेसा ब्रायंट को दे दिया गया है।

यह भी पढ़े : भीषण सड़क हादसे में CM योगी के OSD की दर्दनाक मौत, पेड़ से जा टकराई तेज रफ्तार कार, पत्नी की हालत गंभीर

क्रैश के दौरान, कोबे ब्रायंट के साथ उनकी 13 साल की बेटी और 7 पैसेंजर्स और भी थे। मौत के बाद एक्सीडेंट में मारे गए लोगों की फोटोज लॉस एंजेलिस काउंटी शेरिफ और फायर डिपार्टमेंट के स्टाफों के बीच शेयर किया गया था। इसे लेकर वैनेसा ने लॉस एंजेलिस प्रशासन के खिलाफ मामला दर्ज करवा दिया था। 11 दिनों तक चली सुनवाई के दौरान वैनेसा ब्रायंट ने रोते हुए कहा था कि फोटोज की वजह से पति और बेटी की मौत के एक महीने बाद भी वह इतने दर्द में थीं जैसे उनकी मौत तुरंत हुई हो। उन्हें पैनिक अटैक्स भी आते रहते थे।

वैनेसा ब्रायंट ने कहा- सोशल मीडिया पर होने की वजह से मेरे लिए हर दिन खौफनाक होता था। वह फोटोज मेरे सामने आते रहते थे। वैनेसा ब्रायंट के वकील लुइस ली ने जजों को बताया कि क्लोज-अप फोटोज को ना तो आधिकारिक तौर पर इस्तेमाल किया गया था और ना ही उसे जांच में इस्तेमाल किया जाना था। उसे बस गॉसिप के लिए इस्तेमाल किया गया। 9 जजों की बेंच ने एक मत से इस मामले पर वैनेसा ब्रायंट के पक्ष में फैसला सुनाया। जजों ने यह माना कि फोटोज से वैनेसा की प्राइवेसी का हनन हुआ और वह भावनात्मक संकट से गुजरीं।

यह भी पढ़े : Horoscope Today 26 August: इन राशि वालों के लिए जोखिम का अंतिम दिन आज, इन राशि वालों को बिजनेस में

फैसले के बाद वैनेसा ब्रायंट ने इंस्टाग्राम पर पति और बेटी के साथ एक फोटो शेयर किया। उन्होंने लिखा- आई लव यू! जस्टिस फॉर कोबे एंड गिगि! वैनेसा ब्रायंट की तरह क्रिस चेस्टर ने भी एक्सीडेंट में पत्नी और बेटी को खोया था। उन्हें इस मामले में 120 करोड़ रुपए मिले। फैसले को लेकर चेस्टर के वकील जेरी जैक्शन ने कहा- हम ज्यूरी और जज के शुक्रगुजार हैं कि उन्होंने निष्पक्ष सुनवाई का मौका दिया।