जुड़वा बच्‍चों को पहचान पाना आसान नहीं होता। क्‍योंकि अध‍िकतर बार उनकी शक्‍ल और अक्‍ल लगभग एक जैसी होती है। ऐसे में एक मह‍िला को विचार आया कि क्‍यों न इन्‍हें टैटू बनवा दिया जाए जिससे पहचानना आसान हो जाए। मह‍िला का यह विचार जान लोग सोशल मीडिया पर भड़क उठे और उसे तरह तरह के ताने देने लगे। अमेरिका की रहने वाली जेनिफर के तीन बच्‍चे हैं। दो एक साथ पैदा हुए। वह अपने बच्चों को एक टैटू पार्लर में ले गईं ताक‍ि उन्‍हें टैटू बनवा सके लेकिन उन्हें वापस लौटा दिया गया। टिकटॉक वीडियो में जेनिफर ने कहा, जब मैं उन्हें वहां ले गई तो दुकानदार ने कहा नहीं, टैटू बनवाने के लिए 18 साल या उससे अधिक उम्र होनी चाहिए। इसलिए मैनें उन्‍हें घर पर ही टेंपरेरी टैटू बनाने का फैसला लिया।

त्रिपुरा CPIM ने बूथ जागरूकता समूहों के निर्माण पर आपत्ति जताई

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक , यह वीडियो जेनिफर ने एक मजाक के रूप में बनाया था जो पलभर में ही वायरल हो गया। हजारों की संख्‍या में लोग उन्‍हें सलाह देने लगे। असली टैटू पर विचार करने के लिए तमाम लोगों ने उन्‍हें बहुत बुरा भला कहा। उसने ‘बेबी ए’ के लिए थोड़ा ज्यूपिटर टैटू बनवाने का फैसला किया क्योंकि वह मीन राशि का है और ‘बेबी बी’ के लिए नॉकआउट क्योंकि वह हमेशा उसे ‘नॉक आउट’ करने की कोशिश करता रहता है।

जेनिफर ने बताया क‍ि जैसे ही टैटू बनाने के लिए उसने दोनों बच्‍चों के सिर पर हाथ रखा, उसे खूब हंसी आई। वह कुछ आगे बोल पाती, इससे पहले ही लोग ताने देने लगे। एक शख्‍स ने लिखा, आपको अपने बच्चों को पहचानने की काबिलियत होनी भले ही वे एक ही तरह के क्‍यों न दिख रहे हों। एक महिला ने ल‍िखा, ‘यह भयानक है, मुझे विश्वास नहीं हो रहा है कि आप अपने बच्चों को टैटू पार्लर में ले गए। खराब पालन-पोषण। कुछ ने कहा कि नकली टैटू एक खतरनाक ‘बैक अप आइडिया’ था। एक महिला ने कहा, टैटू में बहुत सारे हानिकारक रसायन होते हैं, कृपया उन्हें अपने बच्चों पर इस्तेमाल न करें। एक शख्‍स ने लिखा, टैटू तो चिपचिपा होता है वह आप धो देंगी पर यह दिखाता है क‍ि आप अपने बच्‍चों के बारे में क‍ितनी लापरवाह हैं।

SC ने नागालैंड में DGP की नियुक्ति पर केंद्र से हलफनामा दाखिल करने को कहा

जब मह‍िला ने बताया क‍ि यह सिर्फ एक विचार था तो लोगों के कमेंट बदल गए। एक शख्‍स ने कहा, सबसे अच्‍छा आइडिया है क‍ि आप उन्‍हें अलग अलग कपडे पहना दे। एक ने कहा, उन्हें अलग-अलग कंगन दें, बच्चों को टैटू की जरूरत नहीं है। जबकि तीसरे ने अपने हाथों पर नेल पॉलिश लगाने की सलाह दी। दूसरी मह‍िला ने कहा, अलग अलग कान में बाली लगा दो। एक व्यक्ति ने कहा, यह वास्तव में एक अच्छा विचार है, बस एक झाई या कुछ और जोड़ें, ताकि आप उन्हें अलग कर सकें।