आपने फिल्मों से लेकर असल जिंदगी में कई जुड़वां लोगों को देखा होगा। सिर्फ चेहरा ही नहीं, शरीर की चौड़ाई और लंबाई भी एक समान ही रहती है। वो अलग बात है कि दोनों वक्त के साथ अपनी ईटिंग हैबिट्स की वजह से वजन घटा-बढ़ा लेते हैं पर आमतौर पर दोनों एक जैसे ही दिखते हैं। मगर दुनिया में जुड़वां बहनों की एक जोड़ी ऐसी भी है जो एक जैसा चेहरा होने के बावजूद भी बेहद अलग है क्योंकि उनका रूप-रंग, और शरीर की बनावट बिल्कुल भिन्न है। उन्हें एक विचित्र बीमारी है जिस कारण से उनका नाम गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज है।

यह भी पढ़ें: रिपोर्ट में बड़ा खुलासाः असम के 95 प्रतिशत युवा साइबर धमकी के कारण मानसिक रूप से परेशान

डेली स्टार न्यूज वेबसाइट की रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका के टेक्सास में 23 साल की सिएना और सिएरा बर्नाल रहती हैं। दोनों ने जन्म के वक्त ही डॉक्टरों को चौंका दिया था क्योंकि वो प्रीमॉर्डियल ड्वार्फिज्म के साथ पैदा हुई थीं जिसके बारे में पहले कभी नहीं सुना गया था। यानी दोनों इस दुर्लभ और विचित्र बीमारी का पहला केस थीं। दोनों का नाम इस वजह से गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज है क्योंकि उन्हें डिस्कॉर्डैंट ट्विनिंग का सबसे दुर्लभ फॉर्म हुआ है।

आपको बता दें कि ट्विन ग्रोथ डिस्कॉर्डेंस एक विकार है जो गर्भ में पल रहे जुड़वां बच्चों के अंदर होता है जिसमें एक तय सीमा तक उनके शरीर की बनावट में बदलाव होता है। दोनों में से किसी एक बच्चे का वजन, दूसरे से 10 फीसदी कम होता है और शरीर में बदलाव होते हैं। एक तरफ सिएरा जहां 44 किलो की हैं और उनका वजन 5 फीट 7 इंच है वहीं सिएना का वजन सिर्फ 22 किलो है और हाइट 4 फीट 4 इंच है। यानी दोनों के कद में 1 फुट का फर्क है और वजन में भी करीब 22 किलो का फर्क है, ऐसे में छोटी बहन विचित्र बीमारी से ग्रसित है और यही दोनों को दुनिया की पहली ऐसी ट्विन्स बनती है जो इस बीमारी से ग्रसित है।

यह भी पढ़ें: असमः बीमारी से प्रेमिका का निधन हुआ, प्रेमी ने लगाया सिंदूर, कहा- किसी और से नहीं करूंगा शादी

दोनों बहनें इस बीमारी को अपनी कमजोरी नहीं समझती हैं। उन्हें लगता ही नहीं कि वो एक दूसरे से अलग हैं। बस उन्हें बुरा तब लगता है जब अंजान लोग उन्हें देखते हैं। लंबी बहन ने कहा कि अक्सर लोग उन्हें मां-बेटी समझ लेते हैं। वहीं छोटी बहन का कहना है कि जब दोनों बार में शराब पीने जाती हैं तो लोग उसे 8 साल का समझ लेते हैं। आपको बता दें कि छोटी बहन का विकास, बड़ी बहन से 6 हफ्ते कम था। जब उनकी मां को इस बारे डॉक्टरों ने बताया तो उन्हें बहुत दुख हुआ था, हालांकि, अब परिवार ने इसे अपना लिया है।