बर्मिंघम में जारी 2022 कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत ने अभी तक ठीकठाक प्रदर्शन किया है। मीराबाई चानू ने भारत के लिए इस सत्र का पहला गोल्ड मेडल जीता। इसके बाद तीसरे दिन पुरुष वेटलिफ्टर जेरेमी लारिनुंगा और अचिंता शेउली  ने भी स्वर्ण पदक अपने नाम किया। 

ये भी पढ़ेंः क्या सलमान खान को सता रहा मौत का डर, लिया गन का लाइसेंस, अब चलेंगे बुलेटप्रुफ कार में

तीन दिन की समाप्ति के बाद भारत की झोली में तीन स्वर्ण समेत कुल छह पदक आ चुके हैं। यह सभी सिर्फ वेटलिफ्टिंग में आए हैं। इस बार के खेलों में भारत की तरफ से 213 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। 

भारत की महिला लॉन बॉल टीम ने इतिहास रचते हुए पहली बार राष्ट्रमंडल खेलों में भारत के लिए एक मेडल पक्का कर दिया है। सेमीफाइनल मैच में महिला टीम ने न्यूजीलैंड को 16-13 से मात दी।

ये भी पढ़ेंः आम आदमी के लिए आज भी बनी हुई है राहत, जानिए कितनी है पेट्रोल और डीजल की कीमत


अजय सिंह क्लीन एंड जर्क के दूसरे प्रयास तक टॉप पर थे लेकिन तीसरे प्रयास में 180 किलोग्राम का वेट उठाने में वह विफल रहे और मेडल की रेस से बाहर हो गई। इसके साथ भारत एक पदक से चूक गया। अजय सिंह 81 किलोग्राम की स्पर्धा में चौथे स्थान पर रहे और उन्होंने कुल 319 किलोग्राम का वजन उठाया। मेडल से वह महज एक किलो पीछे रह गए। इसके पहले भारत ने वेलटिलफ्टिंग में तीन गोल्ड, दो सिल्वर और एक ब्रॉन्ज सहित कुल 6 मेडल जीते हैं।