इस महिला के एक पैर नहीं होने के बावजूद वो बाॅडी बिल्डिंग करती है। गुई यूना नाम की यह महिला चीन की रहने वाली है जिसकी उम्र 35 वर्ष है। यह महिला दिव्यांग हैं तथा उनका एक पैर है ही नहीं। इसके बावजूद वो बॉडी बिल्डिंग करती हैं। साल 2004 में उन्होंने एथेंस में हुए पैरा ओलंपिक्स में हिस्सा लिया था। बॉडी बिल्डिंग के क्षेत्र में वो नई थी लेकिन फिर भी उन्होंने अक्टूबर में इसमें प्राइज जीता।

हाल ही में उन्होंने आईडब्लूएफ बिजिंग 2020 में हिस्सा लिया। इसमें उन्होंने हाई हील शू पहने थे। और वो बिकनी में स्टेज पर नजर आई। लोगों को उनके व्यक्तित्व ने काफी प्रभावित किया। उनका कहना है कि इस बात की भी संभावना है कि मैंने पहला स्थान अपने मसल्स और प्रोफेशनलिज्म से जीता हो लेकिन स्टेज पर मैं सबसे सामने अपने आत्मविश्वास और साहस के कारण ही खड़ी थी। किया है काफी संघर्षगुई चीन के नानिंग की रहने वाली हैं। उनकी मां ने ही उन्हें पाला है। पिता का देहांत उनके पैदा होने से पहले ही हो गया था। यहां तक पहुंचने के लिए उन्होंने काफी मेहनत की। 2001 में उन्होंने पेरालंपिक खेलों में हिस्सा लेना शुरू किया। शंघाई जिम में में वो रोज घंटों वर्कआउट करती हैं। टिकटॉक पर उनके 200000 से ज्यादा लोग तो फॉलोअर्स हैं। गुई को ये बात याद भी नहीं है कि स्कूल जाते वक्त एक ट्रक ने उन्हें टक्कर मार दी थी। जिसके बाद उनका एक पैर चला गया।

साल 2008 में बिजिंग समर गेम्स एंड पेरालंपिक्स हुए थे। इसमें गुई ने हाई जंप और आर्चरी में भाग लिया था। उन्होंने बताया कि नौकरी के लिए उन्होंने लगभग 20 कंपनियों में अप्लाई किया था। सबने ही ये कहा कि वो उनकी इमेज से मैच नहीं खाती। वो कहती हैं कि मैं उन लोगों से क्या ही कहूं। उनके कारण मुझे मुश्किल दौर देखना पड़ा। इसी वजह से मैं वो बन पाई जो मैं आज हूं। गुई जैसे लोगों की कहानी ये बताती है कि हारना मना है।