महिलाओं के खिलाफ़ आपत्तिजनक हरकतें और बयानबाजी हर जगह गलत मानी जाती है। फिर वो टिप्पणी नस्लभेदी हो, शारीरिक हो या फिर मानसिक प्रताड़ना से जुड़ी हो। इन सबके खिलाफ़ कई देशों में कड़े सजा के प्रावधान हैं। ऐसे मामले सिर्फ घरेलू नहीं होते। कई बार वर्कप्लेस पर भी महिलाओं को तीखी टिप्पणी का सामना करना पड़ता है। लेकिन नौकरी जाने के डर से महिलाएं उसके खिलाफ़ आवाज उठाने से डरती और बचती हैं। लेकिन एक महिला ने डर को पीछे छोड़ आवाज उठाई तो बॉस को कड़ी सजा दिलवाकर ही मानी।

Amazon बड़े पैमाने पर करेगी छंटनी, दुनिया भर में 18,000 से अधिक कर्मचारी प्रभावित होंगे

निजी कंपनी के बॉस ने महिला कर्मचारी को मोटी कहकर उसका अपमान किया तो महिला को ये बात नागवार गुज़री और इसे अपनी अवहेलना मानकर वो कोर्ट पहुंच गई। जिसके बाद कर्मचारी को कोर्ट ने न्याय दिया और बॉस को सख्त सजा सुना दी और 19 लाख का जुर्माना भरने का फरमान दिया। जिससे डरकर बॉस भाग गया। मामला स्कॉटलैंड का है।

मामला तब सामने आया जब ऑफिस में किसी बात पर बॉस ने महिला कर्मचारी को मोटी कह दिया। इतना सुनना था की वो महिला अपमानित महसूस कर तुरंत दफ्तर छोड़कर बाहर चली गई। कुछ देर तक तो वह शांत रही, लेकिन फिर अपने दोस्तों और साथियों से इस बारे में मशविरा किया और राय भी मांगी। फिर उसने नौकरी का डर छोड़ कर बॉस के खिलाफ़ कोर्ट का दरवाजा खटखटा दिया और न्याय महिला के पक्ष में आया। लेकिन जैसे ही बॉस को खबर लगी कि उनके खिलाफ़ मामला कोर्ट में है तो वह फौरन देश छोड़कर भाग खड़ा हुआ।

चीन से 10 साल युवा है इंडियन फोर्स, इस तरीके से चटाएगी ड्रैगन को धूल

दोस्तों की राय के बाद महिला जब कोर्ट गई तो कोर्ट ने महिला कर्मचारी द्वारा पेश किए गए सबूतों के आधार पर बॉस को दोषी माना और उसके खिलाफ़ 19 लाख का जुर्माना भरने का फरमान सुना दिया। हालांकि बॉस पहले ही देश छोड़कर पाकिस्तान भाग गया। लेकिन यह पैसे या तो कर्मचारी का अपमान करने वाला बॉस या फिर उस कंपनी को ही भरना होता है। आपको बता दें कि यह मामला कुछ वक्त पुराना है। लेकिन दोबारा इसलिए प्रकाश में आ गया, क्योंकि पता चला कि अब तक महिला को मुआवजा नहीं मिला है।