पटना। बिहार के सीतामढ़ी जिले (crime in Bihar) में एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है, जिसमें एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी का गला घोंट कर उसके शरीर को छत के हुक से लटका दिया। दरअसल, शख्स ने अपनी पत्नी से आमलेट बनाने के लिए कहा लेकिन जब उसने आमलेट बनाने से इनकार कर दिया, तब उसने इस घिनोने अपराध को अंजाम दिया। ये जानकारी एक अधिकारी ने दी।

आरोपी की पहचान सेवानिवृत्त सब इंस्पेक्टर राम विनय सिंह के बेटे अजीत सिंह के रूप में हुई है। राम विनय के बयान के आधार पर सीतामढ़ी पुलिस ने उसके बेटे अजीत के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। ये घटना गुरुवार देर रात सहियारा थाना क्षेत्र के बेलही जय राम गांव की है। हालांकि आरोपी फिलहाल फरार है।

राम विनय सिंह ने कहा, 'मेरा बेटा शराबी है। वह गुरुवार शाम को शराब के नशे में घर आया था। उसने बाजार से अंडे भी खरीदे थे। हालांकि, जब उसने अपनी पत्नी नीतू सिंह (30) से आमलेट बनाने के लिए कहा, तो उसने मना कर दिया। उसने कहा कि गुरुवार को रसोई में मांसाहारी भोजन नहीं बनाया जा सकता है। इसके कारण आपस में कहासुनी हो गई।'

नीतू उसकी शराब पीने की आदत से नाराज थी। उसने पहले भी उसके शराब पीने का विरोध किया और गुरुवार को भी ऐसा ही किया। इससे अजीत को गुस्सा आ गया। उसने पहले बेडरूम के अंदर उसके साथ बेरहमी से मारपीट की फिर उसका गला घोंट कर फांसी पर लटका दिया। कुछ देर बाद जब नीतू ने चिल्लाना बंद किया तो मुझे लगा कि वे कमरे के अंदर शांत हो गए हैं। लेकिन कुछ देर बाद अजीत कमरे से बाहर आया और वहां से भाग गया।

उन्होंने कहा, 'जब मैं कमरे में पहुंचा, तो वह छत के हुक से लटकी हुई थी।' इस मामले के जांच अधिकारी एचएस कुमार ने कहा, 'हमने पीडि़ता के ससुर के बयान के अनुसार प्राथमिकी दर्ज की है। आरोपी अब फरार है।'