कुछ लोग ऐसे होते हैं जो मन मारकर परिवार चलाने के लिए अपनी नौकरी या काम धंधा करते हैं। लेकिन कई लोग अपने काम को गर्व के साथ फेसबुक या अपने किसी और सोशल मीडिया एकाउंट पर शेयर करते हैं तो कुछ उसे छिपाते हैं। ऐसे में कुछ ऐसे प्रोफेशन भी हैं जो दुनियावालों की नजरों में गलत हो सकते हैं मगर उसकी कमाई से ही लोगों के घर का खर्च चलता है। ऐसे ही एक प्रोफेशन के बारे में एक महिला ने सच्चाई दुनिया के सामने जाहिर की है।


यह भी पढ़ें : लाखों दिलों पर राज करती है असम की ये एक्ट्रेस, ऐसे मनाया अपनी मां का बर्थडे


यह महिला केंटकी की रहने वाली 20 साल की पामेला कार्मेन है जिन्होंने पोल डांसिंग और स्ट्रिपिंग की दुनिया का राज खोला है। बतौर स्ट्रिपर एक बार में काम करने वाले पामेला ने अपनी जॉब की मुश्किलों को सबके सामने बयां किया है। उन्होंने हफ्ते के पांच दिन करीब करीब एक ही जैसी मुश्किल का सामना करना पड़ता है। उन्होंने ये भी कहा कि सोशल मीडिया साइट्स पर जो स्ट्रिपर्स बेशुमार पैसों के साथ फोटो खिंचवाती हैं, वो सिर्फ एक तरह का छलावा यानी फेक मार्केटिंग है। स्ट्रिपिंग की दुनिया की हकीकत इतनी ग्लैमरस और ब्राइट नहीं है। इसके पीछे गहरा अवसाद यानी डिप्रेशन और पीड़ा छिपी होती है।

पामेला ने कहा कभी कभी वो एक रात में 50 अमेरिकी डॉलर यानी 3 से 4 हजार रुपये कमा लेती हैं। वहीं, कभी कभार एक रुपया भी नहीं मिल पाता। किसी दिन अगर क्लब खाली हुआ तो और मुश्किल हो जाती है। क्योंकि क्लब में आने वालों की संख्या भी कमाई पर असर डालती है। जिस दिन काम नहीं होता तब उन्हें खर्च चलाने के लिए क्लब से उधार लेना पड़ता है। बकौल पामेला ये आसान काम नहीं है यानी इसमें हमेशा आप पर नोट उड़ाए जाएंगे इसकी कोई गारंटी नहीं होती है।

यह भी पढ़ें : बेहद स्टाइलिश होती है मणिपुरी ड्रेस इनाफी, ये खूबियां जानकर पहनने का करेगा मन

पामेला ने कहा कि वो इस प्रोफेशन में आने वाली सभी न्यू कमर्स लड़कियों और महिलाओं को बताना चाहती हैं कि अगर वो इस प्रोफेशन में आ रही हैं तो उससे पहले इसकी अच्छी और बुरी बातें जान लें। क्योंकि ज्यादा कमाई के लिए इस प्रोफेशन की लड़कियों को रात में देर तक काम करना पड़ता है। उनकी सुरक्षा की कोई खास गारंटी नहीं होती है।

अपनी बातचीत में अपना एक्सपीरिएंस शेयर करने वाली पामेला ने हील पहनने, शरीर पर ऑयल और अन्य प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने से जुड़ी भी बातें बताईं ताकि इस प्रोफेशन में आने वाली लड़कियों को डांस करते वक्त असुविधा ना हो और वो मानसिक रूप से खुद को तैयार कर सकें। उन्होंने ये भी कहा कि कई बार पैर फिसलने पर लोग संभालने के बजाए बुरे बुरे कमेंट कर देते हैं।