पति-पत्नी का रिश्ता इतना मजबूत होता है कि दोनों में से किसी की भी ज़िंदगी पर आंच आए तो दूसरा अपना सबकुछ कुर्बान करने से पहले कुछ नहीं सोचता। कुछ ऐसा ही हुआ ऑस्ट्रेलिया के एक कपल के साथ, जिसमें से पत्नी को समंदर में जब शार्क ने पकड़ लिया, तो पति ने आव देखा न ताव और उसे छुड़ाने के लिए कूद पड़ा।

ये भी पढ़ेंः जेल में बंद 218 मुस्लिम कैदियों ने विधि विधान से नवरात्रि व्रत रख पेश की सांप्रयादिक सौहार्द की मिसाल

महिला पर द ग्रेट व्हाइट शार्क ने हमला कर दिया था, लेकिन पति ने ऐन वक्त पर उसे देखा और पत्नी को बचाने के लिए अपनी जान झोंक दी। शार्क को ज़ोरदार मुक्के जड़कर वो पत्नी को मौत के मुंह से खींच लाया। ये घटना 2 साल पहले पोर्ट मैकक्वैरी बीच पर हुई थी, जो किसी की भी ज़िंदगी में गहरे सदमे की तरह बन सकती है।

यह भी पढ़े :  नहीं देखी होगी ऐसी हिन्दू-मुस्लिम एकता , यहां की दुर्गा पूजा साम्प्रदायिक सौहार्द का संदेश देती है 

ऑस्ट्रेलिया के Port Macquarie बीच पर मौजूद 35 साल की Chantelle Doyle सर्फिंग कर रही थीं। उन्हें पता भी नहीं था कि अगले ही पल उनके साथ क्या होने वाला है। इसी बीच 10 फीट की एक शार्क मछली आई और डॉयले को उनके सर्फिंग बोर्ड के गिरा दिया। मछली ने उनके दाएं पैर को टार्गेट किया और उसमें अपने दांत गड़ा दिए। गनीमत ये रही कि उनके पति जॉन हंटर ने इसे देखा और मछली पर कूदकर उन्होंने तब तक उसके चेहरे पर मुक्के मारे, जब तक कि वो उनकी पत्नी को छोड़कर भाग नहीं गई।

डॉयले को अस्पताल लाया गया और सर्जरी के 2 साल बाद तक उनका पैर आधा पैरालाइज़्ड रहा। ABC से बात करते हुए उन्होंने बताया आज भी पैर में थोड़ी दिक्कत होती है। हालांकि उन्होंने अपनी स्ट्रेंथ बढ़ाने के लिए बॉक्सिंग ज्वाइन कर ली। वे शार्क्स के संरक्षण पर अब भी बात करती हैं और इसे ज़रूरी बताती हैं। वे फिलहाल सर्फिंग बोर्ड पर वापसी कर चुकी हैं और लोगों को समुद्री जीवों के संरक्षण के प्रति जागरूक करती हैं।