कोटा के कुन्हाड़ी थाना में शादी के नाम पर धोखाधड़ी का अनूठा मामला सामने आया है। एक दलाल ने रुपए के लालच में एक शादीशुदा महिला के पति को भाई बता उसकी दूसरी शादी करवा दी। 

 इसके बदले उसने 1 लाख 80 हजार रुपए भी ले लिए। जब उसे धोखाधड़ी का पता चला तो कुन्हाड़ी थाने में महिला को लेकर साथ पहुंचा।  कुन्हाड़ी सीआई गंगासहाय शर्मा ने बताया कि रवि नागर की रिपोर्ट पर पुलिस ने कोमल करपरे (22) पत्नी सोनू करपरे (24) निवासी रुस्तम का बगीचा थाना एमआईजी कॉलोनी जिला इंदौर मध्यप्रदेश व देवराज (39) हाल निवासी सुभाष नगर थाना कुन्हाड़ी को गिरफ्तार किया है। 

पीडि़त रवि नागर पेशे से ऑटो चालक है।  तीन भाइयों में सबसे बड़ा है।  अपने माता पिता के साथ सकतपुरा स्थित काली बस्ती में रहता है. उसका पड़ोसी कुंज बिहारी के घर आना जाना था। रवि ने कुंज बिहारी को शादी नहीं होने की बात बताई थी, जिसके बाद कुंज बिहारी के अपने परिचित देवराज सुमन से रवि की मुलाकात करवाई थी।

 15 दिन पहले रवि और देवराज की मुलाकात सकतपुरा में हुई।  जब देवराज सुमन को पता लगा कि रवि नागर की शादी नहीं हो रही है। तो उसने रवि की इंदौर में शादी करवाने की बात कहीं। रवि ने शादी के लिए पैसों का इंतजाम करने के लिए बारां जिले के गांव की 7 बीघा जमीन 2 लाख में गिरवी रखी। 

बिचौलिए देवराज मुलाकात के कुछ दिन बाद एक रिश्ता लाया।  इंदौर में मुस्कान नाम की लड़की से रिश्ता करवाया।  बाकायदा सगाई हुई, लकड़ी को शगुन को तौर पर 1 हजार रुपए दिए, लेकिन 8 दिन बाद लड़की ने शादी करने से इनकार कर दिया। इसके कुछ दिन बाद ही देवराज एक और रिश्ता लाया।  

इंदौर की कोमल नाम की लकड़ी से शादी करवाने की बात कही।  20 जून को दोनों की मुलाकात हुई, जिसमें देवराज ने लड़की की कहीं भी शादी नहीं होने की जानकारी दी। उसी दिन रवि ने 1 लाख 80 हजार रुपए देवराज को दिए। 

देवराज ने लड़की के आने-जाने व खाने- पीने और ठहरने का खर्चा रवि को भुगतने की शर्त रखी, जिस पर रवि तैयार हो गया।  रवि ने इंदौर से आने जाने का खर्च 20 हजार रुपए दिए।  साथ ही होटल में ठहरने व खाने पीने के 5 हजार अलग से दिए।  

लड़की कोमल के साथ एक पंडित, गवाह के तौर पर उसका पति, 17 साल की एक लड़की, एक अन्य युवती सोनू भी कोटा आए।  देवराज ने इन्हें नयापुरा एक होटल में रुकवाया।  जबकि उन्हें रेलवे स्टेशन इलाके के एक होटल में ठहराया था। 

देवराज ने 21 जून को रवि को शादी के लिए कोर्ट में बुलवाया।  कोर्ट में पहले से ही कोमल व उसके साथ आए लोग खड़े थे।  देवराज ने दोनों की कोर्ट मैरिज करवा दी। यहां भी कोमल के पति ने अपने आप को उसका भाई बताया और गवाह के तौर पर साइन भी किए।  इसके बाद घर पहुंच कर सात फेरे लिए। 

कोमल द्वारा घूमने ले जाने की जिद करने पर रवि ने अपनी बहन से बात की।  बहन ने रवि को अपने घर बुलाया, जिसके बाद दोनों 23 जून को उसकी दीदी के यहां कुन्हाड़ी गए।  रवि की बहन ने जब पूछताछ की तो कोमल ने सारी बात बताई।  उसने बताया कि उसकी शादी हो चुकी है और दो बच्चे भी हैं। 

 इसके अलावा तीन महीने की गर्भवती भी है।  यह बात सुन दोनों भाई-बहन घबरा गए और कोमल को लेकर कुन्हाड़ी थाने पहुंचे।  कुन्हाड़ी सीआई गंगा सहाय शर्मा ने बताया कि रवि नागर की रिपोर्ट पर मामल दर्ज कर तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।