अमेरिका में यूएफओ देख जाने की घटनाओं को लेकर देश के खुफिया एजेंसी के प्रमुख टेंशन में हैं।  इसे लेकर अब अमेरिका  एक ऐतिहासिक रिपोर्ट जारी करने जा रहा है। 

 हालांकि रिपोर्ट जारी करने के लिए किसी विशेष तारीख की घोषणा नहीं की गई है, लेकिन स्थानीय मीडिया आउटलेट्स का मानना है कि इसे 25 जून तक सार्वजनिक किया जा सकता है। 

नेशनल इंटेलिजेंस निदेशक का कार्यालय कांग्रेस के समक्ष रिपोर्ट जारी करेगा।  इसमें अज्ञात हवाई घटना (यूएपी) घटनाओं की जांच के लिए अगस्त 2020 में पेंटागन द्वारा स्थापित अमेरिकी नौसेना के नेतृत्व वाली टास्क फोर्स का काम शामिल है। 

 हाल के वर्षों में पेंटागन ने नौसेना के एविएटर्स के कई वीडियो की प्रामाणिकता की पुष्टि की है जो सामान्य मानव ज्ञान के लिए अज्ञात गति और गतिशीलता को प्रदर्शित करने वाली रहस्यमय हवाई घटना दिखा रहे हैं। 

बता दें, अमेरिका में पिछले दो दशकों में 120 बार रहस्यमयी यूएफओ देखे गए हैं।  इन घटनाओं को लेकर अमेरिकी खुफिया एजेंसियों ने चिंता जाहिर करते हुए साफ कहा है कि इस मामले में गंभीरता लाने की जरूरत है।  

हालांकि अधिकारियों का ये भी मानना है कि रूस या चीन द्वारा जिस तरह हाइपरसोनिक तकनीक में प्रगति की जा रही है और नए प्रयोग किए जा रहा हैं, उससे ये भी आशंका है कि कुछ हवाई घटनाएं इन नई तकनीक से प्रेरित हो सकती हैं। 

अमेरिकी रक्षा मंत्रालय द्वारा हाल ही में यूएफओ देखे जाने की खबरों को आंशिक रूप से सार्वजनिक किया था।  यह टेंशन इसलिए भी बढ़ा देती हैं, क्योंकि ये किसी अन्य देश की ओर से भेजे गए जासूसी यान भी हो सकते हैं।