दुनिया में एक ऐसा भी पहाड़ है जिसे लोग मौत के पहाड़ से नाम से जानते है। इस पहाड़ ने कई लोगों की जिंदगी छीन ली है। मध्य दक्षिण अमेरिका में स्थित देश बोलीविया के दक्षिणी पश्चिमी हिस्से में करो रीको माउंटेन मौत के पहाड़ के नाम से जाना जाता है। यह पहाड़ अब तक लाखों लोगों की मौत का कारण बन चुका है, जिस कारण लोगों में दहशत रहती है।आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन सोलहवीं सदी से लेकर अब तक इस पहाड़ से 80 लाख लोगों की मौत हो चुकी है।

जब बोलीविया पर स्पेन का राज था तो स्पेन के लोग इसे रिच माउंटेन के नाम से जानते थे। आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन स्पेन के लोग इस में पाई जाने वाली चांदी की मात्रा के कारण इसे चांदी का पहाड़ समझते थे। स्पेन के लोगों को लगता था कि यह पूरा पहाड़ चांदी के अयस्क से बना हुआ है।

इतिहास को देखें तो लोग कहते हैं कि स्पेन इसी पहाड़ की वजह से अमीर बना था। सन 1545 में स्पेनियों ने इस पहाड़ पर माइनिंग के काम के लिए तलहटी में एक छोटा सा शहर बसा दिया। कहा जाता है कि जबरदस्ती 30 लाख लोगो को माइनिंग के काम में लगाया गया। स्पेनियों ने इन लोगों की मदद से 2 अरब ओस चांदी निकाली, जिस कारण स्पेन अमीर बन गया।

लगातार चांदी के लालच के कारण यहां पर माइनिंग का काम चलता गया, जिस कारण इस पहाड़ में जगह-जगह गड्ढे और सुरंगे बन गई। यह पहाड़ इन कारणों के चलते इस तरह खोखला हो चुका है कि यहां हर पल पहाड़ के ढहने से दुर्घटना का खतरा बना रहता है। इस खतरे के बावजूद भी आज यहां लगभग 15000 लोग काम करते हैं।

इस पहाड़ पर भारी मात्रा में काम चलने के कारण धूल और चट्टान के गुब्बार बने रहते हैं और जहरीली गैसो ने तलहटी में रहने वाले लोगों का जीना दूभर कर दिया है। इन खदानों में काम करते हुए हर महीने औसतन 14 से 15 युवक मारे जाते हैं, जिस कारण यहां की महिलाएं विधवा होती जा रही है।

यहां के स्थानीय निवासियों की जिंदगी किसी अभिशाप से कम नहीं है। यहां काम करने के लिए श्रमिकों को अयस्क पीठ पर ढोने पड़ते हैं, जिस कारण इनकी औसत आयु 40 वर्ष रह गई है। यहां के लोग इस पहाड़ में होने वाली मौतों से बचने के लिए अल टियो राक्षस की मूर्तियां लगाते हैं। माना जाता है कि एक सींग वाला यह राक्षस गहराइयों में दुर्घटनाओं से बचाने में मदद करता है।