शादी में बरात आई तो उसका अच्छे से स्वागत किया गया। फिर जयमाला का कार्यक्रम हुआ और अंत में दूल्हा दुल्हन ने सात फेरे भी ले लिए। इस वक़्त तक सबकुछ अच्छा चल रहा था लेकिन असली बवाल इस मंडप के बाद खाने की टेबल पर शुरू हुआ।


दरअसल खाने के दौरान दूल्हा और दुल्हन पक्ष के मेहमानों के बीच बहस बाजी हो गई। जल्द ही ये बहस लड़ाई झगड़े में बदल गई। हालत ये हो गए कि दोनों तरफ के मेहमान एक दुसरे के ऊपर खाने की प्लेट्स फेकने लगे। ऐसे में दोनों ही परिवार के बीच अनबन और मनमुटाव इतना ज्यादा हो गया कि दूल्हा दुल्हन की फैमिली ने इस शादी को कैंसिल करने का मन बना लिया।


इस लड़ाई झगड़े के बीच पुलिस को भी मौके पर बुलाया गया। पुलिस ने ये लड़ाई झगड़ा तो बंद करवा लिया लेकिन दूल्हा दुल्हन को तलाक लेने से नहीं रोक पाई। दोनों ही परिवार के लोगो ने अपने वकीलों को फोन कर शादी वाली जगह ही बुला लिया और कुछ ही मिनटों में वहीँ दूल्हा दुल्हन का तलाक करवा दिया। यहाँ तक कि शादी में मिले तोहफों को भी रिटर्न कर दिया गया। इस तरह दूल्हा अपनी दुल्हन के बिना ही घर वापस चला गया।


वैसे तो हर शादी में कोई ना कोई एक मेहमान ऐसा होता ही हैं जो थोड़े बहुत नाटक कर शादी की शुभा बिगाड़ता हैं लेकिन इस शादी में तो हद ही हो गई। जरा सोचिए सिर्फ शादी में आए मेहमानों के व्यवहार की वजह से दूल्हा दुल्हन का तलाक हो गया। इसलिए अगली बार आप शादी करे तो अपने मेहमानों को पहले ही समझा दे कि कोई बवाल ना करे वरना आपकी शादी भी खतरे में पढ़ सकती हैं।