भारत में महिलाआें को लेकर समाज में व्याप्त भ्रान्तियां धीरे-धीरे समाप्त हो रही हैं। अब महिलाएं घर की चारदीवारी से निकल कर बाहर पुरूषों के साथ कदम से कदम मिला रही हैं।

हिन्दुस्तानी बेटियां अब घर तक ही नहीं सीमित रही बल्कि जल-थल और नभ हर जगह युद्ध क्षेत्र में भी अपनी उपस्थिति दर्ज करवा दी है। आज हम एेसे ही एक जगह के बारे में बताने जा रहे हैं जहां पुरूष नहीं बल्कि सिर्फ महिलाएं ही दुकान चलाती हैं।


जी हां मणिपुर की राजधानी इम्फाल में सभी महिलायें ही दुकान चलाती हैं और इस बाज़ार को मदर्स मार्केट के नाम से जाना जाता है। यहां तकरीबन 4000 से ज्यादा छोटी बड़ी दुकानें हैं और यहां दुनिया भर के खरीददार प्रतिदिन आते है। आये है भारत का अनोखा Bazar , जहां सिर्फ शादीशुदा महिलाएं  ही बेचती हैं सामानपको यहाँ पर अपनी जरूरत का हर छोटा बड़ा सामान मिल जाएगा।


यह बाज़ार लगभग 500 बरस से ऐसे ही महिलओं के द्वारा ही चलाया जा रहा है। इन बीते 500 सालों में आज तक भी इस बाज़ार में कोई भी परिवर्तन नहीं हुआ है। यह बाजार उसी ढंग से आज भी चल रहा है जैसे वह आज से 500 बरस पहले चला था।


बाज़ार के बारे में जब हमनें रिसर्च की तो हमें पता चला कि पहले यहां पर ‘लैपल’ नाम की परंपरा चलती थी। जिसके अनुसार मैती समुदाय के पुरुषों को राजा के दरबार में काम करने के लिए बुला लिया जाता था और घरों को संभालने का काम महिलाओं को करना पड़ता था जिसके चलते धीरे-धीरे महिलाओं ने पहले खेती और बाद में बाज़ार का काम भी खुद से ही संभाल लिया।

हालांकि इस बाजार के कुछ खास नियम हैं, इन नियमों में एक नियम ये है कि यहां सिर्फ वही महिला दुकान खोल सकती है। जिसकी शादी हो गई हो, खास बात ये है कि इस बाजार में आपको लगभग हर तरह का सामान मिल जाता है।