हम बड़े होने के बाद स्कूल के दिनों के खट्‌टे-मीठे अनुभव अक्सर ही याद कर लेते हैं। लेकिन क्या हो यदि स्कूल में दोस्ती करने पर व ताली बजाने पर रोक, वॉशरूम जाने की लिमिट जैसे सख्त नियम हों। ऐसे स्कूल के दिन शायद ही कोई याद करना पसंद करेगा। यह सिर्फ कल्पना नहीं है। दुनिया में कई ऐसे अजीबो गरीब नियम-कायदे वाले स्कूल हैं। 

ब्रिटेन के थॉमस स्कूल में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स को आपस में दोस्ती करने की इजाजत नहीं है। स्कूल का मानना है कि दोस्तों से बिछड़ जाने पर बच्चे अकेला महसूस करते हैं। इसलिए कुछ ऐसे नियम हैं कि ताकि दोस्ती गहरी न हो सके।

यह भी पढ़े :  नहीं देखी होगी ऐसी हिन्दू-मुस्लिम एकता , यहां की दुर्गा पूजा साम्प्रदायिक सौहार्द का संदेश देती है 

जापान के कुछ हाई स्कूल्स में ड्रेस कोड सख्ती से लागू होता है। इसमें बालों की लंबाई कितनी और नाखून कैसे होने चाहिए, इसके भी नियम हैं। कई स्कूलों में मेक-अप, नेल पॉलिश, या पीयर्सिंग आदि पर रोक है। कई स्कूलों में रिलेशनशिप तक पर रोक है। रिलेशनशिप को लेकर स्कूलों का कहना है कि इससे बच्चों का ध्यान भटकता है। स्कूल ड्राप-आउट बढ़ता है।

किसी दोस्त से मिलने पर कई बच्चे गले लगते हैं। किसी बात पर ताली बजाते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि दुनिया के कई स्कूलों में इन पर भी रोक है। ब्रिटेन और अमेरिका के कई स्कूलों में ताली और गले लगने पर सख्त प्रतिबंध है।

ये भी पढ़ेंः जेल में बंद 218 मुस्लिम कैदियों ने विधि विधान से नवरात्रि व्रत रख पेश की सांप्रयादिक सौहार्द की मिसाल

अमेरिका के शिकॉगो शहर स्थित एवरग्रीन पार्क हाईस्कूल में वॉशरूम जाने की भी लिमिट है। एनबीसी टीवी नेटवर्क की एक खबर के अनुसार स्टूडेंट्स प्रत्येक क्लास में अधिकतम तीन बार वॉशरूम जा सकते हैं। स्कूल का कहना है कि इस नियम को इसलिए लागू किया गया, ताकि बच्चे जरूरी वक्त बर्बाद नहीं करें।

चीन में एक ऐसा स्कूल है, जिसमें बच्चे दोपहर 12.10 बजे से दोपहर 2 बजे तक लंच टाइम के समय दोपहर की नींद लेते हैं। इस स्कूल का नाम है गाओक्सिन नंबर 1 एलिमेंट्री स्कूल। इसका मकसद है कि बच्चे फ्रेश महसूस करें।