आंख में कई तरह की समस्याओं के कारण या समस्याओं से बचने के लिए अक्सर लोग चश्मे का प्रयोग करते हैं। आजकल कम्प्यूटर और मोबाइल पर लगातार काम करने से भी आंखें प्रभावित होती हैं, इससे बचने के लिए लोग चश्मा पहनते हैं। लेकिन जापान में कुछ कंपनियों ने महिलाओं के चश्मा पहनने पर रोक लगा दी है। जापानी मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, कंपनियों ने अपनी महिला कर्मचारियों को चश्मा पहनकर काम न करने के लिए अजीबोगरीब कारण बताए हैं।


उनमें से कुछ रिटेल चेन कंपनियों का कहना है कि चश्मा लगाकर काम करने वाली महिला कर्मचारियों की वजह से उनके ग्राहकों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। कंपनियों का बिजनेस प्रभावित होता है। चश्मा पहनने वाली महिला कर्मचारी ग्राहकों को उदासीन लगती हैं। हालांकि पुरुषों के कार्यस्थल पर चश्मा लगाने पर रोक नहीं है। हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि यह प्रतिबंध कंपनी की नीतियों पर आधारित है या फिर उन कार्यस्थलों पर सामाजिक तौर पर स्वीकार किया गया अभ्यास है।



जापान में डिपार्टमेंट स्टोर और शोरूम के रिसेप्शन पर, हॉस्पिटैलिटी स्टाफ और ब्यूटी क्लीनिक में काम करने वाली महिलाओं को चश्मा पहनने पर प्रतिबंध लगाया गया है। कंपनियों ने चश्मे पर प्रतिबंध के बारे में अजीबोगरीब तर्क देते हुए कहा है कि कस्टमर सर्विस से जुड़ी महिला कर्मचारियों में स्त्री गुण का दिखना जरूरी है, इसलिए उनको चश्मा नहीं पहनना चाहिए।

जापान में महिलाओं को कंपनी के ड्रेस के साथ हिल वाली जूती पहननी होती है। साथ ही उनका मेकअप भी आधुनिक होना चाहिए। कंपनियों ने कामकाजी महिलाओं के लिए इसके संदर्भ में भी दिशानिर्देश दे रखे हैं।