कहा जाता है कि एक छोटी सी चींटी अगर विशाल हाथी की सूंड में काट लें, तो हाथी मर सकता है। लेकिन क्या आपने सुना है कि अगर एक छोटी सी चींटी डंक मार दे तो इंसान की मौत तक हो सकती है। जी हां, चींटी की एक प्रजाति ऐसी है, जो अपने डंक से इंसान को मौत के घाट उतारने का दम रखती है। इस चींटी को किंग कोबरा से कम खतरनाक समझने की कभी भूल मत करना। दिखने में छोटी दिखने वाली ये चींटी इंसानों के लिए काल बन सकती है। चलिए आपको बताते है कि चींटी की इस प्रजाति के बारे में।

इस चींटी का नाम है 'बुलडॉग चींटी', चींटियों में ये सबसे ज्यादा खतरनाक प्रजाति है। ये ऑस्ट्रेलिया के तटीय क्षेत्रों में पाई जाती है। ये चींटिया अपने शिकार के लिए ज्यादातर रात के समय बाहर आती है। इस चींटी की खासियत ये है कि ये अपने बड़े जबड़े से हमला करती है। अपने डंक से ये अपना जहर उस जानवर या इंसान के शरीर में पहुंचा देती है, जिसको उसने काटा है। इस चींटी को दुनिया की सबसे खतरनाक चींटी कहा जाता है। इस चीटियों का आकार 1 इंच से भी कम होता है।

इन चीटिंयों को लॉयन ऐंट और जैक जंपर ऐंट्स के नाम भी जाना जाता है। बाकी चींटियों के मुकाबले बुलडॉग चींटियां ज्यादा जीती है। इनका स्वभाव बाकी चींटियों से काफी अलग होता है। इन चीटियों की प्रजाति में जरुरी नहीं है कि रानी चींटी मुख्या के तौर पर इस समूह में मौजूद हो, यह बिना रानी चींटी के भी अपनी जनसंख्या को आसानी से बढ़ा सकता है। जब मादा चीटियां अंडे देती है तब इन अंडों को नमी वाली जगह पर रखा जाता है जहां पर मजदूर चीटियां मरे हुए कीड़ों को लाकर रख देती है। इन कीड़ों को खाकर बुलडॉग चींटियों के बच्चों बड़े होते है।