कई लोगों को गपबाजी करना काफी पसंद होता है। जरा सा मौका मिलते ही वह गपबाजी करना शुरू कर देते हैं। लेकिन अब एक शहर ऐसा भी है जहां अगर आपने गपबाजी की तो आपके ऊपर जुर्माना तो लगेगा ही साथ ही आपको सड़क भी साफ करनी पड़ेगी और कचरा उठाने की भी सजा दी जा सकती है।

फिलीपींस के बिनालोनान शहर में अफवाहों को रोकने के लिए नया नियम लागू किया गया है। इस कानून को शहर के मेयर रेमन गुइको ने पारित करवाया है, जो एक मई से लागू भी हो गया है।


फिलीपींस की राजधानी मनीला से 200 किलोमीटर दूर स्थित बिनालोनान में स्थानीय अधिकारियों ने गपशप या बेकार की बातें करने को गैरकानूनी बताया। अधिकारियों के मुताबिक, इसका लक्ष्य समुदाय में अफवाहों को रोकना है। नए नियम के मुताबिक, पहली बार ऐसा करने पर 263 रुपए जुर्माना और 3 घंटे तक सड़क का कचरा उठाने की सजा दी जाएगी। यह नियम स्थानीय स्तर पर लागू किया गया है। ऐसा इस वजह से किया गया है क्योंकि अफवाहों के चलते शहर में अपराध काफी बढ़ रहे थे।


ऐसा ही नियम बिनालोनान के पड़ोसी शहर मोरेनो में 2017 में लागू किया गया था। यहां कई स्थानीय लोगों पर 700 रुपए का जुर्माना और सड़कों की जबरन सफाई के लिए दबाव बनाया गया था। लोग काफी परेशान हुए थे लेकिन नियम का सख्ती से पालन भी हुआ था। बिनालोनान में नियम दोबारा तोड़ने पर जुर्माना बढ़ाने के साथ सजा का समय भी बढ़ाया जाएगा। ऐसे लोगों पर 1300 रुपए जुर्माना और 8 घंटे तक समुदाय की सेवा करनी होगी। हालांकि नियम में यह स्पष्ट नहीं किया गया है कि किन बातों को गप या बेकार की बातें करार दिया जाएगा। हालांकि, रात दस बजे के बाद लोग गपबाजी कर सकते हैं।


इसके मामलों में कार्रवाई की शुरुआत गर्मियों से की जा रही है। अधिकारियों का दावा है कि इस मौसम में स्थानीय लोग छांव में इकट्ठा होते हैं। गर्मी का मौसम लोगों को बेकार की बातों पर चर्चा करने के लिए उकसाता है। बिनालोनान शहर के मेयर 44 वर्षीय रेमन गुइको का दावा है इस नियम के कारण लोग अपना जीवन बेहतर करने के लिए प्रेरित होंगे। गपशप पर प्रतिबंध लगाने से शहर की गुणवत्ता में इजाफा होगा।


गुइको ने कहा कि नया नियम भावनाओं को व्यक्त करने की स्वतंत्रता पर रोक नहीं लगाता। इस नियम को लागू करने का लक्ष्य समुदायों को झूठी निंदा करने वाले लोगों से बचाना है ताकि शहर अच्छा और सुरक्षित बन सके। नया नियम लोगों को उनकी जिम्मेदारी के प्रति आगाह करता है। हम चाहते हैं कि बाहर के लोग यहां के निवासियों को एक बेहतर इंसान मानें।