पुलिस थानों में फरियादी विवाद, चोरी आदि की शिकायतें लेकर पहुंचते हैं, लेकिन भिंड जिले के नया गांव थाने में एक फरियादी किसी वारदात (miscreant) , बदमाश या अपराधी की रिपोर्ट दर्ज कराने नहीं बल्कि अपनी भैंस की शिकायत (complain about his buffalo)  करने पहुंच गया. जी हां! नया गांव का रहने वाला बाबूलाल नाम का किसान अपनी भैंस की शिकायत लेकर थाने पहुंचा. 

बाबूलाल ने पुलिस से कहा कि भैंस उसे (Babulal told the police that the buffalo is not allowing him to milk) दूध नहीं निकालने दे रही है, लिहाजा पुलिस उसकी भैंस (Police should help him to milk his buffalo)  का दूध दुहाने आने में उसकी मदद करें. पहले तो सिपाहियों ने बाबू लाल को भगा दिया, लेकिन थोड़ी देर वो भैंस को लेकर फिर थाने पहुंच गया, आखिर में पुलिस ने बाबूलाल की सहजता देखकर उससे शिकायती आवेदन लिखवाया. पुलिस ने आवेदन लेने के बाद पशु चिकित्सक की मदद से बाबूलाल की परेशानी हल कराई.

शनिवार की शाम भिंड जिले के नयागांव थाना में गांव में ही रहने वाला बाबूराम जाटव नाम का किसान पहुंचा. बाबूलाल अपने साथ भैंस भी लेकर थाने पहुंचा, सिपाहियों ने उससे आने की वजह पूछी तो बाबूलाल ने बताया कि उसकी भैंस दूध नहीं दे रही है, इसलिए मदद मांगने आया. सिपाहियों ने ये सुनते ही बाबूलाल को पगला समझ कर भगा दिया. थोड़ी देर बाद बाबूलाल फिर से भैंस लेकर थाने पहुंच गया.

इस बार थाना प्रभारी हरजेंद्र सिंह की नजऱ बाबूलाल पर पड़ी, उन्होंने भैंस के साथ थाने आने के वजह पूछी. बाबूलाल ने बताया कि साहब मेरी भैंस महीनेभर से दूध नहीं दे रही है. पहले पांच लीटर दूध देती थी. थाना प्रभारी ने बाबूलाल को पशु चिकित्सक के पास जाने की सलाह दी, लेकिन वह जि़द पर अड़ गया. बाबूलाल का भोलापन और सहजता देख थाना प्रभारी ने उससे आवेदन लिखवाया और पशु चिकित्सक के पास भेजा. पशु चिकित्सक ने बाबूलाल को अलग तरीके से दूध निकालने का टिप्स दिया. इसके बाद बाबूलाल ने ही भैंस का दूध निकाला.

किसान रिश्तेदारी में गया तो भैंस ने दूध देना बंद कर दिया

दरअसल, बाबूराम की भैंस ने अक्टूबर महीने में दूसरी बार बछड़े को जन्म दिया था. बछड़े के जन्म के बाद से वो लगातार दूध दे रही थी लेकिन तीन दिन पहले वो रिश्तेदार के यहां आयोजन में गया था. घर लौटा उसके बाद भैंस ने दूध देना बंद कर दिया. बाबूलाल ने बताया कि उससे खूब कोशिश की लेकिन भैंस ने दूध नहीं दिया. आखिर में किसी ने बताया कि टोटके के लिए भैंस की पुलिस से शिकायत करो. इसीलिए वो भैंस को लेकर पुलिस से शिकायत करने पहुंचा, पुलिस और पशु चिकित्सक की मदद से भैंस ने दूध निकालने दिया. अब उसकी शिकायत दूर हो गई.