दुनिया में लोग कुछ न कुछ नया और अनोखा करने के लिए मानो होड़ लगा रहे हैं. किसी ने नाव पर ही अपने लिए घर बना लिया है तो कोई चांद पर ज़मीन का टुकड़ा खरीद रहा है. आपने बहुत से रईसों को अपने लिए पर्सनल लग्ज़री याट खरीदते हुए भी सुना होगा, लेकिन अब एक इटैलियन कंपनी ये मौका हज़ारों लोगों को दे रही है, जो याट पर ज़िंदगी जीने का लुत्फ उठा सकेंगे.

मणिपुर आसियान के प्रवेश द्वार के रूप में उभरेगा: केंद्रीय मंत्री

Lazzarini Design Studio नाम की इटैलियन फर्म के डिज़ाइनर्स ने मिलकर एक बड़े और न डूबने वाले याट का प्लान तैयार किया है, जिस पर वे कोई रेस्टोरेंट या फिर एडवेंचर पार्क नहीं बल्कि 60 हज़ार लोगों के लिए आशियाना बना रहे हैं. दावा है कि ये साल 2033 तक बनकर तैयार हो जाएगा. याट में ही यहां रहने वाले लोगों के लिए सारी की सारी सुख-सुविधाएं मौजूद होंगी क्योंकि ये समंदर पर तैरता हुआ भरा-पूरा शहर होगा.

डेली स्टार की रिपोर्ट के मुताबिक इस सिटी प्लान की सबसे दिलचस्प बात है इसका किसी बड़े और भयानक कछुए की तरह दिखना है. Lazzarini Design Studio के मुताबिक 2000 फीट चौड़ी इस फ्लोटिंग सिटी में सिर्फ फ्लैट्स ही नहीं होंगे, बल्कि इसमें होटेल्स, शॉपिंग सेंटर, पार्क, डॉक और मिनी एयरपोर्ट भी होगा. कंपनी के मुताबिक इसे बनने में 8 साल का वक्त लग जाएगा और हो सकता है कि साल 2033 तक ये शुरू हो जाए. सबसे पहले उन्हें इसके लिए एक ड्राई डॉक बनाना होगा. कंपनी ने इसकी वर्चुअल एनफएटी एंट्रेंस टिकट और वीआईपी सुइट्स को बेचना चालू कर दिया है.

मुख्यमंत्री माणिक साहा का दावा, राज्य में महिलाओं के खिलाफ अपराध में 30% की कमी आई

इस तैरते हुए शहर को बनाने के लिए अंदाज़न £6,725,512,000 यानि भारतीय मुद्रा में करीब 6,51,80,45,44,499 रुपये खर्च किए जा रहे हैं. ड्राई डॉक के लिए सऊदी अरब में साइट देखी जा रही है. इस शहर को सोलर सेल के ज़रिये ऊर्जा मिलेगी और दावा किया जा रहा है कि यहां ऊर्जा की कोई कमी नहीं होगी. इस प्रोजेक्ट का नाम Pangea के नाम पर रखा जा रहा है और उम्मीद की जा रही है कि इस टेरायाट में 60 हज़ार लोगों को आशियाना बनाकर बेचा जा सकेगा.