बचपन में आपने भी जलपरियों (Mermaid Stories) की कहानी सुनी होगी। जलपरी यानी ऐसी मछली जो आधी इंसान और आधी मछली होती है। इस जीव को सिर्फ कहानियों में देखा-सुना गया लेकिन असल में ये होते हैं या नहीं, ये कभी कन्फर्म नहीं हो पाया। एक महिला, जो बचपन से इनकी कहानियां सुनती थी, उसे जलपरियों ने इतना आकर्षित किया कि अब वो प्रोफेशनल जलपरी (Professional Mermaid) बन गई है। प्रोफेशनल मरमेड फेलिसिया की फोटोज सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।

फेलिसिया ने आज से आठ साल पहले प्रोफेशनल मरमेड की जॉब ली थी। अपने काम में एक्सपर्ट बनने के लिए फेलिसिया ने स्कूबा डाइविंग का सर्टिफिकेट भी लिया। इसके बाद उसने अपनी पहली पूंछ खरीदी। अब वो इस पूंछ के साथ अमेरिका के कई हिस्सों में परफॉर्म करती है। अपनी परफेक्ट पूंछ के लिए फेलिसिया ने काफी स्ट्रगल किया है। डेली स्टार को दिए इंटरव्यू में फेलिसिया ने कहा कि जब उन्हें इस प्रोफेशन के बारे में पता चला तो उन्होंने ठान लिया कि इसमें वो एक्सपर्ट बनेगी। इस कारण उन्होंने स्कूबा डाइविंग सीखी ॉर्फ फिर अपनी पर्फेक्ट पूंछ की तलाश शुरू की।

फेलिसिया ने बताया कि जलपरी की ट्रेनिंग काफी डिफिकल्ट थी। पानी में फेलिसिया काफी एन्जॉय करती थी लेकिन इसमें काफी ट्रिक्स उन्हें सीखनी पड़ी। उन्हें पानी में सांस रोकने की ट्रेनिंग लेनी पड़ी। फेलिसिया अपने काम को काफी एन्जॉय करती है। हालंकि, अपने महंगे पूंछ से वो काफी परेशान है। उन्होंने बताया कि इस जॉब में परफेक्शन के लिए उसने सिलिकॉन की पूंछ बनवाई है। इसकी कीमत उसे लगभग दो लाख पड़ गई। उसके पास इतने महंगे कई डिजाइन की पूंछ है।

हालांकि, दिखने में ये जॉब आसान लगती है लेकिन है काफी मुश्किल। फेलिसिया को टैंक में एक घंटे की शिफ्ट लगातार करनी पड़ती है। एक घंटे के बाद उसे ब्रेक मिलता है जिसमें वो बाथरूम जाकर फ्रेश होती है। ऐसे में पूंछ को बार-बार हटाना पड़ता है। इसके अलावा इस प्रोफेशन में टैंक में टॉयलेट न करने से खुद को रोकना काफी मुश्किल होता है लेकिन ऐसा करना काफी जरुरी है। वहीं टैंक में लगातार घंटों रहने से जुकाम हो जाना कॉमन है। लेकिन फेलिसिया अब अपनी जॉब में एक्सपर्टाइज हो गई है।