ब्रह्माण्ड में हर क्षण ऐसी अद्भुत और अविश्वसनीय घटनाएं होती रहती है जो किसी चमत्कार से कम नहीं होती है। ग्रहों अपनी चाल बदलते रहते हैं और तारे रोज करतब दिखाते रहते हैं लेकिन कई ग्रह ऐसे हैं जो सदियों बाद एक्टिव होते हैं और ऐसी ऐसी क्रियाएं करते हैं कि विश्वास करना बहुत मुश्किल होता है। इसी तरह से इस साल शुक्र और गुरू ग्रह का मिलन हो रहा है।
सौरमंडल के दो सबसे चमकदार ग्रह एकदूसरे के इतने करीब नजर आ रहे हैं मानो एकदूसरे के गले मिल रहे हैं। यह दोनों ग्रह हैं- शुक्र और बृहस्पति। अगर आप भी तारों को निहारने के शौकीन हैं तो अभी भी मौका है, मत चूकिएगा क्योंकि अगली बार इस तरह का नजारा साल 2039 में ही देखने को मिलेगा।


यह भी पढ़ें- हिमंता सरकार ने किया मुस्लिम महिलाओं को लेकर बड़ा ऐलान, खुशी से झूम उठी महिलाएं



करोड़ों मील दूर है ये ग्रह

शुक्र (Venus) और गुरू (Jupiter) ग्रह वैसे तो एकदूसरे से करोड़ों मील की दूरी पर होंगे, लेकिन धरती से देखने पर ये एकदूसरे के बहुत करीब दिखेंगे। ऐसा इसलिए कि यह एक सीध में नजर आएंगे जिससे इनके पास-पास होने का अहसास होगा। आमतौर पर हर साल यह घटना होती है लेकिन इस साल यह कुछ ज्यादा ही करीब नजर आएंगे। अगली बार इस तरह का नजारा 17 साल बाद देखने को मिलेगा।


ग्रहों का ‘मिलन’


जब हमें दो ग्रहों के एकदूसरे के बहुत करीब नजर आने का अहसास होता है या धरती पर रात के आसमान में वह एकदूसरे को छूते हुए नजर आते हैं तो इसे ग्रहों का मेल कहा जाता है। ऐसा ही कुछ शुक्र और जुपिटर के साथ हो रहा है। धरती से देखने पर ये आसमान में एकदूसरे के करीब नजर आ रहे हैं लेकिन असल में यह दोनों ग्रह अपनी कक्षा में एकदूसरे से करीब 430 मिलियन मील की दूरी पर होंगे, लेकिन एक सीध में आने पर धरती से ऐसा अहसास कराएंगे कि दोनों एक दूसरे के बेहद निकट पहुंच गए हैं।