धरती से करीब एक अरब प्रकाशवर्ष दूर 2 गैलेक्सीज में दो ‘नाचते हुए भूत’ दिखाई दिए हैं। ऑस्ट्रेलिया की नैशनल साइंस एजेंसी CSIRO और वेस्टर्न सिडनी यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स ने दरअसल, दो गैलेक्सीज के केंद्र में महाविशाल ब्लैक होल से निकलते इलेक्ट्रॉन बादलों को खोजा है। इन्हें PKS 2130-538 नाम दिया गया है जो गैलेक्सी में चल रहीं हवाओं की वजह से नाचते दिख रहे हैं।

टीम को उम्मीद है कि इस खोज से उन्हें ब्लैक होल के बिहेवियर और दो गैलेक्सीज के बीच में होने वाली हलचल को समझने में मदद मिलेगी। पश्चिमी सिडनी यूनिवर्सिटी और CSIRO ने बताया है कि पहले इन्हें देखकर समझ ही में नहीं आया कि ये हैं क्या। कई हफ्ते के बाद दो गैलेक्सी दिखीं।

इनके केंद्र में महाविशाल ब्लैक होल थे जिनसे इलेक्ट्रॉन के जेट निकल रहे थे। ये गैलेक्सी में चलने वाली हवाओं से इनका आकार बिगड़ गया था। अभी यह नहीं समझा गया है कि दोनों आपस में क्यों उलझे दिख रहे हैं और रेडियो एमिशन क्यों निकल रहा है। वैज्ञानिकों का अंदाजा है कि अभी यह समझने के लिए कई ऑब्जर्वेशन्स चाहिए होंगे।

इन्हें Evolutionary Map of the Universe (EMU) प्रॉजेक्ट के तहत खोजा गया जो ASKAP टेलिस्कोप की मदद से अंतरिक्ष में रेडियो स्रोत डिटेक्ट करता है। ASKAP टेलिस्कोप CSIRO ही ऑपरेट करता है और यह ऑस्ट्रेलिया टेलिस्कोप नैशनल फसिलटी का हिस्सा है। यह हाई सर्वे स्पीड के लिए नोवेल टेक्नॉलजी का इस्तेमाल करता है जिससे यह रेडियो वेवलेंथ पर आसमान का मैप तैयार करने के लिए दुनिया के सबसे बेहतरीन उपकरणों में से एक बनता है।