नॉर्वे के मत्स्यपालन मंत्री पेर सेंडबर्ग को विवादों के चलते इस्तीफा देना पड़ा है। पता चला है कि पेर अपनी प्रेमिका पूर्व मिस ईरान बहारीह लेटनेस के साथ जुलाई में छुट्टियां मनाने ईरान चले गए थे।


हालांकि ये कोर्इ अपराध नहीं है लेकिन वे इस बारे में प्रधानमंत्री कार्यालय को सूचित करना तो भूल ही गए साथ ही अपना आधिकारिक कामों के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला फोन भी साथ ले गए।


इस हरकत को सुरक्षा प्रोटोकॉल का उल्लंघन माना गया है क्योंकि नॉर्वे की गुप्तचर एजेंसी चीन और रूस के साथ ईरान को भी जासूसी कराने वाले देशों की सूची में रखती रही है। अब क्या कहा जाए कि दिल के हाथों मजबूर हो कर पेर सारे कायदे कानून भूल गए। 


खास बात ये है कि सेंडबर्ग ने अपनी ही पार्टी की लाइन पार कर ली है। उनका राजनैतिक दल प्रोग्रेस पार्टी ही एंटी इमिग्रेशन पार्टी कहलाता है। यही वजह है कि उनके इस कदम की सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों उनकी आलोचना कर रहे थे। नॉर्वे में प्रोग्रेस पार्टी ने कंजरवेटिव और लिबरल्स के साथ मिलकर सरकार बनाई थी आैर प्रोग्रेस पार्टी में सेंडबर्ग का नंबर दूसरा माना जाता था।


इसी के चलते वहां की प्रधानमंत्री अरना सोलबर्ग ने भी नाराजगी जताते हुए कहा है कि पेर को इस्तीफा देने के लिए कहा गया था, ये सही फैसला था। वे एक जिम्मेदार पद पर थे, इसके बावजूद उन्होंने सुरक्षा के मुद्दे पर समझदारी नहीं दिखाई। वैसे पेर की गर्लफ्रेंड को भी नॉर्वे की नागरिकता पाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी थी। खबरों के मुताबिक बहारीह ने तीन बार आवेदन लगाए थे आैर तीनों रिजेक्ट कर दिए गए थे। उन्हें देश से बाहर भी निकलने को मजबूर दिया गया था।


बाद में बड़ी कठिनार्इ से उन्हें इस आधार पर नॉर्वे में रहने की इजाजत मिली कि ईरान में उनकी जबर्दस्ती शादी कराई जा सकती थी। लेटनेस कई सौंदर्य प्रतियोगिताआें जैसे मिस ईरान 2013, मिस ग्लोब ईरान 2014 और मिस ग्रैंड इंटरनेशनल ईरान में भाग ले चुकी थीं। वे दो कंपनियों की मालिक हैं, जो नॉर्वे-ईरान के बीच मछली और गैस का आयात-निर्यात करती हैं।