धरती पर तरह-तरह के जीव-जंतु पाए जाते हैं। कुछ देखने में ही खतरनाक होते हैं और वे आकार में भी बड़े होते हैं। इन्हें देखकर ही हम दूरी बरत लेते हैं लेकिन कुछ जीव ऐसे भी होते हैं, जो दिखने में इतने बड़े नहीं होते, लेकिन ज़हरीले माने जाते हैं। ऐसे जानवरों में बिच्छू, गिरगिट की कुछ प्रजातियां और मकड़ियां शामिल हैं। ये अपने ज़हर से इंसान की जान तक ले सकते हैं।

ये भी पढ़ेंः IRCTC Railway Train Cancelled List 21 Sep 2022: आज भी रद्द हैं कई ट्रेनें, यहां देखें लिस्ट


मकड़ियों को तो आपने कई जगहों पर देखा होगा। ये सेकेंड्स में जाले बुन देती हैं। अगर मकड़ियां छोटी हों तो इनसे कोई खास नुकसान नहीं पहुंचता लेकिन कुछ बड़ी मकड़ियां बेहद ही खतरनाक और जहरीली भी होती हैं। ऐसी ही सींगों वाली मकड़ी को मैक्राकैंथा आर्कुआटा कहते हैं। उसकी लंबी-लंबी सींगें होती हैं और दिखने में वो इतनी खतरनाक लगती है कि आप खौफ में आ जाएंगे। वो बात अलग ही इसकी सच्चाई इससे काफी उलट होती है।

सीगों वाली मकड़ी यानि मैक्राकैंथा आर्कुआटा में नर और मादा की संरचना एक जैसी ही होती है। इन मकड़े-मकड़ियों की रीढ़ इनके एब्डॉमिन यानि पेट से निचले हिस्से में होती है। हालांकि मादा मकड़ियों में ये ऊपर की ओर आ जाती है। इनकी रीढ़ की हड्डियां 1 नहीं बल्कि 3 जोड़े यानि 6 होती हैं। इनमें से बीच वाली हड्डी ही है, जो आपको सींगों के तौर पर दिखती है। ये एक-दूसरे की ओर हल्की झुकी रहती हैं। ये हड्डी मकड़ी से भी 3 गुना ज्यादा बड़ी होती है, जबकि बाकी चार हड्डियां छोटी होती हैं। यही वजह है कि बड़ी-बड़ी सींगों वाली मकड़ी को देखकर लोग डर जाते हैं।

ये भी पढ़ेंः IIT बॉम्बे में भी MMS स्कैंडल, वॉशरूम की खिड़की से वीडियो बना रहा था कोई , अब प्रबंधन ने लिए कड़े फैसले

ये मकड़ियां चीन और हमारे देश के भी जंगलों में पाई जाती हैं। ये Macracantha जीन की मकड़ी है, जिसके ऊपर एक शेल जैसी चीज़ होती है, जिसका रंग पीला, लाल या फिर सफेद और काला भी हो सकता है। हालांकि इनकी सींगों में कोई बदलाव नहीं होता। वैसे तो इन सींगों की ज्यादा उपयोगिता समझ नहीं आती लेकिन जीव वैज्ञानिकों का कहना है कि इसकी वजह से चिड़िया या छिपकलियों के लिए इन्हें खाना मुश्किल हो जाता है। वैसे ये सींगों वाली मकड़ियां इंसान के लिए नुकसानदेह नहीं होती हैं लेकिन इन्हें पास से देखकर आपके रोंगटे खड़े कर सकता है।