लेदर जैकेट (Leather jacket online) का फिनिश और इसकी क्वालिटी की दीवानी पूरी दुनिया है. सिर्फ हमें इसके सेंसिटिव साइड से ज़रा दिक्कत होती है क्योंकि ये जानवरों के चमड़े से तैयार किया जाता है. ऐसे में वैज्ञानिकों ने खुशखबरी (Scientists made fabric out of mushroom) ये दी है कि अब चमड़े जैसी खूबी वाला फैब्रिक (Fabric Made of Mushroom) मशरूम यानि फंगस से तैयार किया जा सकेगा. ये चमड़े के उत्पादों का विकल्प (Vegan Alternative of Leather) बनेगा.

वैज्ञानिकों ने फंगस (Scientists made fabric out of mushroom) से एक अलग तरह का मटीरियल बनाया है, जो देखने में लेदर जितना ही सुंदर और वैसा ही फिनिश देने वाला है. इससे बने हुए कपड़े को फैशन शो में प्रदर्शित भी किया जा चुका है. वैज्ञानिकों का दावा है कि इससे पर्यावरण पर बुरा असर नहीं होगा और ये ठंड में चमड़े जैसी ही गर्माहट देगा. सीधे शब्दों में कहें तो ये नकली लेदर है, जो एक अच्छे उद्देश्य के लिए बनाया गया है.

फंगी लेदर को बनाया है सैन फ्रांसिस्को की बायोमैटेरियल कंपनी मायकोवर्क्स ( biomaterials company MycoWorks) ने. इसे बनाने के लिए फंगस के ट्यूब आकार वाले फिलामेंट को तैयार किया गया है. Daily Mail की रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी का ये भी दावा है कि ये मटीरियर बायोडिग्रेडेबल है, जो काफी इको फ्रेंडली (Eco Friendly Leather) होगा. फंगस को पैदा करने के लिए छोटी-छोटी ट्रे का इस्तेमाल किया जा सकता है. इससे तैयार हुए प्रोडेक्ट को रीशी (Reishi) नाम दिया गया है और इस तकनीक को फाइन माइसीलियम टेक्निक कहा गया है. कंपनी ने इसका पेटेंट भी करा लिया है. इससे बने फैब्रिक और लेदर में फर्क कर पाना बेहद मुश्किल है. वीगन लोगों ने के लिए चमड़े के उत्पादों का ये बेहतरीन विकल्प है.

मायोवर्क्स के CEO डॉक्टर मैट स्कुलिन ने द गार्डियन से बात करते हुए कहा है कि इससे लोग भावनात्मक रुप से भी जुड़ेंगे क्योंकि ये चमड़े का विकल्प है. आमतौर पर भेड़, बकरियों, घोड़ों, भैंसों, सुअर, घड़ियाल, व्हेल और सील जैसे जानवरों की खाल से लेदर प्रोडक्ट बनते हैं, जिससे ग्रीनहाउस गैस एमिशन भी होता है. ऐसे में अगर इस तरह के प्रोडक्ट से इसे थोड़ा भी रिप्लेस किया जाएगा तो पर्यावरण को काफी फायदा होगा. इसे साल 2019 में एक पर्स के तौर पर फैशन शो में पेश किया गया था. इस साल भी पेरिस फैशन वीक में मायसीलियम बैग्स प्रेजेंट किए जाने वाले हैं.