दुनिया में कई तरह के समुदाय है जो अपनी ही दुनिया में मशगूल रहते हैं। उनको दुनिया में के हाईटेक विकास से कोई लेना देना नहीं है। उनके पास जो हैं वो उसी में खुशी खुशी अपना सारा जीवन गुजारते हैं। इसी तरह से पाकिस्तान में भी एक समुदाय ऐसा है जो बहुत ही खुशमिजाजी है। पाक के हिंदू कुश पहाड़ों के बीच एक रहस्यमयी समुदाय है जो दुनिया की आधुनिकता से बहुत दूर है लेकिन हर चीज इनके पास है। जिसमें यह बहुत ही खुश हैं। हैरानी की बात तो यह है कि दुनिया आज सोशल डिस्टेंसिंग कर रही है लेकिन इस समुदाय के लोग सदियों से सोशल डिस्टेंसिंग कर रहे हैं।

पाकिस्तान की रहस्यमयी जनजाति कलाश नाम का ये समुदाय पर्वत श्रृंखला से ऐसे घिरा हुआ है जिससे उसकी संस्कृति सुरक्षित रहती है। इस समुदाय में सिर्फ 4,000 लोग ही हैं। अभी यहां अपना सबसे बड़ा त्योहार चेमॉस मना रहे है। कलाश जनजाति ने बताया कि इस इलाके में सिकंदर की जीत के बाद इसे कौकासोश इन्दिकौश कहा जाने लगा। जिसका यूनानी भाषा में अर्थ है हिंदुस्तानी पर्वत। हैरानी की  बात तो यह है कि यहां के त्योहार पर औरतें-मर्द सभी साथ मिलकर शराब पीते हैं। मिलकर बांसुरी और ड्रम बजाते हुए नाचते-गाते हैं।  


यहां कमाने का काम ज्यादातर औरतें करती है। भेड़-बकरियां चराने के साथ साथ पर्स और रंगीन मालाएं बनाती हैं, जिनको पुरुष बेचकर आते हैं। यहां की महिलाएं खास किस्म की टोपी और गले में पत्थरों की रंगीन मालाएं पहनती हैं। खास बात तो यह है कि यहां मनपसंद का जीवन साथी चुन सकते हैं। यहां बिना शादी किए ही लिव इन में रहते हैं। जिससे परिवार और समुदाय के किसी भी शख्स को कोई दिक्कत नहीं होती है। अगर शादी में साथी से खुश नहीं हैं और कोई दूसरे के साथ बिना किसी  रोक टोक के रहती है।