दिल्ली के पंजाबी बाग में रहने वाले टैटू आर्टिस्ट करण नाम के इस शख्स ने बॉडी मॉडिफिकेशन में सबको पीछे छोड़ दिया है। वह दुनिया के सबसे पहले फुल मॉडिफाइड बॉडीबिल्डर हैं। उन्होंने सिर से लेकर पांव तक टैटू करवाया है। आई बॉल टैटू कराकर काली करा ली हैं। कान कटवा कर दोबारा से शेप दी है। असली दांत निकाल कर पूरे लोहे के दांत लगवा लिए हैं। साथ ही जीभ को तीन बार दो हिस्सों में कटवा चुके हैं।

32 साल के टैटूग्राफर करण ने अपनी इस जर्नी के बारे में बताया। उन्होंने बताया, 'मैं देश का सबसे पहला आईबॉल्स (आंखों के अंदर) टैटू कराने वाला शख्स बना। मेरी पूरी बॉडी पर टैटू हैं। एक भी जगह नहीं बची।' उन्होंने बताया कि इतना कुछ करने के लिए उन्होंने बहुत कुछ सहन किया है। टैटू कराते वक्त बेहोश हुआ और कई दिनों तक बेड रेस्ट करना पड़ा। महीनों लग गए सिर्फ पानी और जूस पिया। जब लोहे के दांत लगवाने का फैसला लिया तो एक-एक दांत निकलवाना पड़ा। जब ये सब हो रहा था तो बोल भी नहीं पाता था। आज पूरी बॉडी मॉडिफाइड करने के बाद जिंदा खड़े हैं।

करण ने कहा कि मां-बाप ने भी साथ दिया क्योंकि उनको मेरे पैशन के बारे में पता है। आज जब पूरा तैयार हो गया हूं तो पापा (अशोक सिद्धू) ने ही स्पेशल फोटो शूट किया है। उनकी स्माइल के आगे ये दर्द कुछ भी नहीं हैं। करण ने बताया कि 13 साल की उम्र में पहला टैटू कराया था। 3 बार जीभ कटवा चुके हैं। अब जीभ सांप की तरह दो हिस्से में बंटी हुई है। करण ने बताया कि सिर के दोनों साइड प्लास्टिक सर्जन से कटवाकर उनके अंदर टैटू कराया है जिससे वह थोड़े बाहर की तरफ दिखें। टैटू आर्टिस्ट करण कहते हैं कि नया जन्म हुआ है। अब करियर के बारे में सोचना है। बाइक पर वर्ल्ड टूर करना है।