कासा एनकांटडा नामक हवेली को कार्टिजो जूराडो के नाम से भी जाना जाता है। इसे स्पेन में स्थित शहर मलागा के हेरेडिया परिवार द्वारा बनवाया गया था। यह परिवार उस दौरान स्पेन के एंडलुसिया नामक क्षेत्र के सबसे धनी परिवारों में से एक था। उस दौरान इस मकान को एक भव्य कृषि उद्यम बनाने के लिए खरीदा गया था।


सन् 1850 में यहां अजीब-अजीब तरह की घटनाए होने लगी। रहस्यमयी सायों को चारों ओर घूमते देखा जाने लगा, कमरे में रोशनी दिखाई देती थी और अचानक गायब भी हो जाती थी। चीजें अपने आप जगह से हिलने-गिरने लगीं थी। अजीबोगरीब आवाजें सुनाई देने लगी।


दरअसल, ऐसा होने के पीछे का कारण हेरेडिया परिवार ही था। ऐसा माना जाना है कि उस जमाने में वहां के अन्य कई अमीर परिवारों के साथ मिलकर हेरेडिया परिवार 18-21 आयु की लड़कियों को यहां अगवा कर लाता था।


तत्पश्चात काला जादू, टोना-टोटका संबंधी कार्यों को करने के बाद उन लड़कियों के साथ दुष्कर्ष किया जाता था और अन्त में उनकी हत्या कर उन्हें मकान के अंदर ही दफना दिया जाता था।


धीरे-धीरे वक्त बीता और साल 1925 में जुराडो परिवार ने इस संपत्ति को खरीद लिया, लेकिन यहां की डरावनी और असाधारण गतिविधियां समाप्त नहीं हुई। आज भी हर रात उन मासूम लड़कियों की आत्माएं उस हवेली में भटकती रहती हैं और इंसाफ की मांग करती हैं।