आज भी भारत के कई गांव अजीबोगरीब मान्यताओं के बंधंन में फंसे है। शायद यहीं कारण है कि ऐसी अनोखी शादी देखने को मिलती है। ताजा मामला असम का है जहां दो मेंढ़कों की अनोखी शादी कराई जाती है।

इन मेंढ़कों को सजाया गया, फूल-माला पहनाई गई और धूमधाम से इनकी शादी रचाई जाती है। ये सब गांव के लोगों ने इस विश्वास में किया जाता है कि इससे 'बारिश के देवताओं' को खुश होंगे और वे बारिश कर देंगे।

इस इलाके के लोगों का मानना है कि मेढ़कों की शादी कराने से बारिश के देवता खुश होते हैं और बारिश जल्दी और अच्छी होती है।

इतना ही नहीं इन लोगों ने दोनों मेढ़कों की शादी पूरे पारंपरिक तरीके से करवाई जाती है। इस शादी में सैंकड़ों लोगों भी हिस्सा लेते हैं।

मेंढ़कों कों वरमाला पहनाई जाती है और साथ वो सारी रस्में निभाई जाती हैं जो एक सामान्य शादी में निभाई जाती है।

इस अनोखी शादी के लिए दोनों मेढ़कों को अलग-अलग तालाब से पकड़ कर लाया जाता है। फिर शादी के बाद उन्हें एक ही तालाब में छोड़ दिया जाता है।