इक्वाडोर में कोरोना संक्रमण के 7466 केस सामने आ चुके हैं जबकि आधिकारिक आंकड़ों के मुतबिक 350 से ज्यादा लोगों की मौत हो गयी है। हालांकि देश में कोरोना के केंद्र ग्वायाक्विल में तब हंगामा मच गया जब पुलिस ने घरों की तलाशी ली और 800 से ज्यादा लाशें बरामद हुई। इक्वाडोर पुलिस ने बताया है कि मारे गए लोग कोरोना संक्रमित थे या नहीं इसकी जांच की जा रही है। ग्वायाक्विल में हाल ये है कि अस्पतालों, आपात सेवाओं और अंत्येष्टि स्थलों पर भारी दबाव है।


इस बंदरगाह शहर में शवों को दफनाने के काम में लगे मुर्दाघरों के लोग इतनी बड़ी संख्या में शव दफनाने में असमर्थ नजर आ रहे हैं। लोग सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट कर रहे हैं जिनमें सड़कों पर शव पड़े हुए दिखाई दे रहे है। कोरोना वायरस से निपटने के लिए पुलिस और सैन्यकर्मियों की मदद कर रही एक टीम का नेतृत्व करने वाले जार्ज वाटिड ने कहा, 'लोगों के घरों से एकत्र किये गये शवों की संख्या 700 से अधिक है।'


इक्वाडोर पुलिस ने रविवार को ट्विटर पर बताया था कि संयुक्त कार्यबल ने पिछले तीन सप्ताह में एक अभियान में घरों से 771 शव और अस्पतालों से अन्य 631 शव उठाए थे। वाटिड ने हालांकि पीड़ितों की मौत का कारण नहीं बताया और इनमें से 600 लोगों के शव अधिकारियों ने दफना दिये है।


इक्वाडोर में 29 फरवरी को कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आया था और इसके बाद से 7,500 मामले सामने आ चुके है। सरकार के अनुसार ग्वायाक्विल में देश में संक्रमित लोगों में से 70 प्रतिशत से अधिक मामले सामने आये है। ग्वायाक्विल में चार हजार मामलों की पुष्टि हुई है।