दुनिया में ऐसे बहुत सारे देश हैं। जिनमें आज भी लोगों के पास इतना पैसा नहीं है कि वह दो वक़्त की रोटी भी कमा सकें। आज हम आपको एक ऐसे ही देश की कहानी बताने जा रहे है। इस देश में सोने की खदानें होने के बावजूद यहां के लोगों को जानवरों की तरह अपनी जिंदगी व्यतीत करनी पड़ रही है।


हम लैटिन अमेरिकी देश पेरु की बात कर रहे है। पेरु के रिनकोनाडा शहर में सोने की खदाने भरी पड़ी हैं। सोने की खदाने होने के बावजूद यहां के लोग गरीबी में अपना जीवन गुजारने को मजबूर हैं।


रिनकोनाडा दुनिया की सबसे ज्यादा ऊंचाई पर बसा हुआ शहर है। इस शहर में रहना खतरे से खाली नहीं है। इतना ख़तरा होने के बावजूद इस शहर की आबादी 30 हजार हैं। यहां के लोग कठिन हालातों में भी अपनी जिंदगी का गुजर- बसर करते हैं। इस शहर का तापमान 1.2 डिग्री सेल्सियस रहता है।


रिनकोनाडा शहर की सोने की खदानों को अवैध तरीके से चलाया जाता हैं। जिसकी वजह से कुछ ही लोगों को इसका फायदा मिल पता हैं यहां के ज़्यादतर पुरुष इन्हीं खदानों में काम करते हैं। वहीं इस शहर की महिलाएं प्रॉस्टिट्यूशन का काम करने को मजबूर हैं।

सोने की खदान में काम करने वाले मजदूरों को सैलरी नहीं दी जाती है। इसके बदले उन्होंने खदान का ही मटीरियल ले जाने दिया जाता है। इस मटीरियल में सोना भी हो सकता है। ऐसे में यह पूरी तरह किस्मत पर निर्भर करता है।