अगर आपको एक दिन की घोषित छुट्टी के बदले भारी वेतन बढ़ोतरी का प्रस्‍ताव दिया जाए तो शायद आप झट से उसे मान लेंगे। ऐसा ही एक प्रस्‍ताव ब्रिटेन की राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य सेवा (NHS) से जुड़े कर्मचारियों को दिया गया है। उन्‍हें दिए गए आंतरिक पत्र में उनसे कहा गया है कि अगर वे साल में एक दिन का घोषित अवकाश नहीं लेते हैं, तो बदले में उनके वेतन में 3 साल में 6.5% की भारी बढ़ोतरी की जाएगी, लेकिन डॉक्‍टरों और डेंटिस्‍टों को इस प्रस्‍ताव से बाहर रखा गया है, क्‍योंकि उनके वेतन का निर्धारण अलग समिति करती है।

ब्रिटेन की NHS कर्मचारियों को ऐसा प्रस्‍ताव इसलिए दिया गया है, क्‍योंकि NHS में 9 स्‍तरीय वेतन प्रणाली है। निचले क्रम वाले कुछ कर्मचारियों का वेतन बहुत कम है। इसके चलते सरकार उनके वेतन में बढ़ोतरी करने की योजना बना रही है। हालांकि NHS कर्मचारी को प्रस्‍ताव में एक और रास्‍ता सुझाया गया है। इसके मुताबिक वे दो दिन के वीकेंड को छोड़कर घोषित अवकाश वाले दिन में से किसी एक का त्‍याग कर सकते हैं। यही नहीं, उन्‍हें एक दिन भी अतिरिक्‍त कार्य करने की मनाही है। यानी एक दिन काम करने को वहां रेड लाइन घोषित कर दिया गया है।

फिलहाल स्‍वास्‍थ्‍य कर्मचारियों ने सरकार के इस प्रस्‍ताव पर अभी कुछ नहीं कहा है। उनकी 14 यूनियन हैं, वे सरकार से इस प्रस्‍ताव पर बातचीत कर रही हैं। इसके बाद ही वह इसे मंजूरी दे सकती हैं। अगर वे यह प्रस्‍ताव नहीं मानते हैं तो सरकार अपनी इच्‍छा के अनुसार भी उनके वेतन में बढ़ोतरी की सकती है।