अमेरिका के एक शख्स ने दावा किया कि उसने 180 साल तक जीने का तरीका खोज लिया है। यह शख्स अमेरिका अरबपति और बिजनेसमैन है। 47 साल के डेव एस्प्रे ने लंबी उम्र हासिल करने के लिए कुछ खास तकनीक ढूंढने का दावा भी किया है। अमेरिकी कारोबारी और न्यूयॉर्क टाइम्स के बेस्टसेलिंग राइटर डेव एस्प्रे ने अपने शरीर के बोन मैरो से स्टेम सेल निकलवाकर इन्हें फिर से ट्रांसप्लांट करवाया है।  शरीर की बायोलॉजिकल क्लॉक को उल्टा घुमाने के लिए की गई बायोहैकिंग के पीछे उनकी इच्छा है कि वे 180 साल जिएं।

47 साल के डेव का कहना है कि वे साल 2153 तक जीवित रहेंगे। लंबी उम्र पाने के अपने मेथड को उन्होंने बायोहैकिंग नाम दिया है। डेव का कहना है कि लंबी उम्र के लिए वे कोल्ड क्रायोथेरेपी चैंबर का इस्तेमाल करते हैं और कुछ समय तक उपवास भी रखते हैं।
अपने ही स्टेम सेल को निकालकर फिर से अपने शरीर में डलवाने की मेडिकल प्रक्रिया पर प्रति सेशन करीब 18 लाख रुपये का खर्च आता है। डेव का मानना है कि यदि 40 से कम उम्र वाले इस तरीके को अपना लें तो 100 साल में भी वे खुश और खासे एक्टिव बने रह सकते हैं।
स्टेम सेल ट्रांसप्लांट करवाने के बारे में डेव ने बताया कि जब हम जवान होते हैं तो शरीर में करोड़ों स्टेम सेल होती हैं। जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है स्टेम सेल खत्म होने लगती हैं इसलिए मैं इंटरमिटेंट फास्टिंग अपनाता हूं। इसमें जब शरीर भोजन नहीं पचा रहा होता है तो वह खुद की मरम्मत करता है। डेव क्रायोथैरेपी पर भी भरोसा करते हैं।
लाइफस्टाइल गुरु के रूप में मशहूर डेव का कहना है कि जल्द ही उम्र बढ़ाने का उनका मेथड घर.घर में लोकप्रिय हो जाएगा। उनका दावा है कि यह तरीका भविष्य में मोबाइल फोन की तरह चलन में आ जाएगा। 47 साल के डेव 2153 तक जीना चाहते हैं। इसके लिए वे कोल्ड क्रायोथैरेपी चैंबर और खास तरीके से उपवास का तरीका भी अपना रहे हैं।