हाल ही में ऐसी घटना सामने आई जिसको लेकर हर कोई हैरान है। क्योंकि एक बाघिन ने बाघ का प्रपोज नहीं माना तो बाघ ने उसकी गर्दन तोड़कर जान ले ली। यह चौंकाने वाली घटना उदयपुर के सज्जनगढ़ इलाके में स्थित बायोलॉजिकल पार्क की है। यहां अक्सर अपनी दहाड़ से पर्यटकों को आकर्षित करने वाली बाघिन 'दामिनी' एक तरफा प्यार के गुस्से की भेंट चढ़ गई। उसके पास वाले बाड़े में बंद एक बाघ ने उस पर हमला कर गर्दन तोड़कर उसकी जान ले ली।

दरअसल, बायोलॉजिकल पार्क के अन्य एनक्लॉजर में मौजूद बाघ 'कुमार' ने बाघिन 'दामिनी' पर हमला कर दिया जिससे उसकी मौत हो गई। 'दामिनी' का शुक्रवार सुबह मेडिकल बोर्ड द्वारा वन विभाग के अधिकारियों की देखरेख में पोस्टमार्टम हुआ। जानकारी के मुताबिक गुरुवार शाम करीब 4 बजे बाघ 'कुमार' अपने डिस्प्ले एरिया में घूम रहा था और उसी के पास स्थित ओपन एनक्लॉजर में 'दामिनी' अपने एनक्लॉजर में थी।

इसी दौरान बाघ 'कुमार' अपने डिस्प्ले एरिया क्षेत्र में लगी जाली को तोड़कर 'दामिनी' के डिस्प्ले एरिया में पहुंच गया और आक्रामक होते हुए उसने 'दामिनी' पर हमला कर दिया। आमतौर पर बाघ जिस तरह से गर्दन की नली को दबाकर अपना शिकार करते हैं, उसी तरह बाघ 'कुमार' ने बाघिन 'दामिनी' का ट्रेकिया दबोच लिया जिससे उसकी मौत हो गई।

दक्षिण के चिड़ियाघर से लोगों के मनोरंजन के लिए उदयपुर के बायोलॉजिकल पार्क में लाई गई 'दामिनी' की दहाड़ हमेशा ही देशभर से आए पर्यटकों को आकर्षित करती थी। बाघिन 'दामिनी' की इस तरह मौत के बाद वन विभाग के अधिकारियों में हड़कंप मचा हुआ है। दामिनी की मौत में कहीं न कहीं वन विभाग के अधिकारियों की घोर लापरवाही भी सामने आई है। अगर समय रहते विभाग के अधिकारी बाघ के एनक्लॉजर का रख-रखाव कर देते तो नर बाघ अपने एनक्लॉजर को तोड़ नहीं पाता।


अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज : https://twitter.com/dailynews360