हाल ही में सोशल मीडिया पर एक क्लिप वायरल हो रही है, जिसे देखकर लोग भौचक्के रह गए हैं। उनका यह अनुमान लगा पाना मुश्किल हो गया है कि यह सच है या मजाक। लेकिन टिकटॉक पर वायरल इस वीडियो में एक भिक्षु से लगने वाले बुजुर्ग दिखाई दे रहे हैं। वह थाईलैंड के एक अस्पताल में भर्ती है। वह काफी कमजोर व बीमार लग रहे हैं। ऐसे में यूजर्स ने उनकी उम्र के बारे में आंकलन लगाना शुरू कर दिया।

यह भी पढ़ें : कंफ्यूज कर देती है सिक्किम की सेल रोटी, खाने वाले नहीं समझ पाते रोटी या मिठाई, स्वाद है लाजवाब


यह क्लिप देखने के बाद कुछ लोगों ने दावा किया कि उनकी उम्र 163 साल है और जापानी बौद्ध भिक्षुओं के बीच लोकप्रिय स्व-ममीकरण तकनीक का अभ्यास करते हैं। इन बुजुर्ग भिक्षु की वायरल तस्वीरों ने इंटरनेट में लोगों को काफी आकर्षित किया है। यह वीडियो उनकी पोती ने शूट कर अपने टिकटोक एकाउंट @ Auyary13 पर शेयर की है। इसे देखने के बाद भिक्षु की पोती औयरी के 5,30,000 फॉलोअर हो गए। वह रोजाना अपने दादा के बारे में अपडेट देती रहती है।

इंटरनेट पर वीडियो वायरल होने के बाद उनकी उम्र की सच्चाई का पता लगाने में लोग जुट गए। टिकटोक पर 163 वर्षीय भिक्षु के बारे में जो अफवाहें सामने आईं, वह वास्तव में सच नहीं हैं। फेक्ट चेकर स्नोप्स के अनुसार, क्लिप में बुजुर्ग व्यक्ति 163 साल के नहीं हैं। उनका नाम लुआंग फो याई है और उनकी उम्र 109 साल है. इसके साथ ही वीडियो में भिक्षु जैसे दिखने वाले ये बुजुर्ग स्व-ममीकरण तकनीक का अभ्यास नहीं करते हैं, जिसे 'सोकुशिनबुत्सु' कहा जाता है।

यह भी पढ़ें : शाकाहारी और मांसाहारी दोनों की खास पसंद है गुंडरूक, स्वाद ऐसा है कि चखते ही दीवाने हो जाते हैं लोग

टिकटॉक एकाउंट में इन बुजुर्ग का सबसे पहला वीडियो नवंबर 2021 में शेयर किया गया था, जिसमें उन्हें घर पर दिखाया गया था। हालांकि, जनवरी 2022 में कूल्हे की हड्डी टूटने के बाद उन्हें थाईलैंड के डैन खुन थॉट अस्पताल में लाया गया, जिसके बाद बुजुर्ग की क्लिप वायरल हुई और लाखों यूजर्स ने देखा। हाल ही में जो वीडियो शेयर किया गया है, उसमें दिख रहा है कि उनके स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है। वह परिवार के साथ खाने, व्यायाम करने और घूमने जाने में सक्षम हैं।