हरिद्वार कुंभ मेले में इस बार एक 18 इंच का नागा साधु काफी चर्चा में है। इस साधु का वजन भी 18 किलो है। यह साधु जूना अखाड़े का है जिनका नाम संन्‍यासी स्वामी नारायण नंद है। 

नागा संन्‍यासी स्वामी नारायण नंद दुनिया के सबसे छोटे नागा संन्‍यासी भी हैं। हरिद्वार में जिस श्रद्धालु की नज़र स्वामी नारायण नंद पर पड़ती है वह श्रद्धालु स्वामी नारायण नंद की और आकर्षित हो जाता है और उनका आशीर्वाद लेता है।

नारायण नंद की उम्र 55 वर्ष है और वो मध्य प्रदेश झांसी के रहने वाले है। वो कुम्भ 2010 में जूना अखाड़े में शामिल हुए थे और नागा संन्‍यासी की दीक्षा प्राप्ति की। नागा संन्‍यासी बनने से पहले उन का नाम सत्यनारायण पाठक था। संन्‍यासी दीक्षा लेने के बाद इन का नाम नारायण नंद महाराज हो गया और तब से ही वह भगवान शिव की भक्ति में लीन हैं।