एक भिखारी की मौत के बाद उसकी झोंपड़ी से इतने रूपये निकले की पुलिस को उन्हें गिनने में पूरी रात लग गई। जी हां, यह चौंकाने वाली खबर हाल ही में सामने आई है जिसको लेकर हर कोई हैरान है। यह वाकया देश की आर्थिक राजधानी मुंबई का है जहां गोवंडी स्टेशन के पास ट्रेन से कटकर एक भिखारी की मौत हो गई थी। घटना के बाद रेलवे पुलिस ने भिखारी की पहचान 82 साल के बिरभीचंद आजाद के रूप में की थी। 

घटना के बाद पुलिस अभिखारी के घर पहुंची और तलाशी ली तो उसकी दौलत देखकर दंग रह गई। भिखारी के घर से पुलिस ने 1.77 लाख रुपये के सिक्के और 8.77 लाख रुपये के फिक्स्ड डिपॉजिट के कागजात मिले। इतना ही नहीं बल्कि भिखारी ने अपना पैन कार्ड, आधार कार्ड और सीनियर सिटिजन कार्ड भी बनवा रखा था। हालांकि कागजातों के अनुसार भिखारी मूलत: राजस्थान का होना पाया गया है, लेकिन मुंबई में वो अकेला ही रहता था।

इसके बाद पुलिस ने उसकी दौलत को चार बैगों में भरकर रखा और उसको गिनने के लिए पुलिसवाले लगाए। पुलिसवालों को यह दौलत गिनने में 6 घंटे लग गए। इसके बाद पुलिसवालों की टीम भिखारी बिरभीचंद आजाद की संपत्ति से जुड़ी कार्रवाई को रविवार तक पूरी कर पाई। इस छोटी सी झोंपड़ी में लाखों की दौलत देख पुलिसवाले भी दंग रह गए। इस दौलत को गिनने में पुलिस को रात भर का समय लग गया।