इस मानसून सीजन में भारत के कई राज्य बाढ़ की चपेट में आए हुए हैं जिससें जन—जीवन अस्त—व्यस्त हो गया है। बाढ़ के चलते कई लोगों के घर और फसलें तबाह हो गए। ऐसा ही बाढ़ की चपेट में मेघालय भी आया हुआ है जहां कई गांव जलमग्न हो गए। हालांकि सरकार और देशभर से बाढ़ पीड़ितों की मदद की जा रही है, लेकिन बीच एक 5 वर्षीय बच्चा मिसाल बनकर सामने आया है। इस बच्चे ने बाढ़ पीड़ितों की मदद हेतु राज्य के मुख्यमंत्री को अपने गुल्लक में बचत से जमा की राशि भेंट कर दी। इसकी खुलासा खुद मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिए दी है।

एल मायान नोंगबरी नामक इस बच्चे ने अपने पिग्गी बैंक सेविंग को इस बच्चे ने मुख्यमंत्री रिलीफ फंड में जमा कराया है। इसके बाद संगमा ने बच्चे के फेसबुक पेज पर उसकी तारीफ की तथा धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा मायान का यह कार्य हमेशा याद रखने जैसा है, इसमें यह मायने नहीं रखता कि उसकी उम्र कितनी बल्कि यह रखता है कि उसमें दया की कीतनी भावना है।

संगमा ने अपने ट्विटर अकाउंट पर इस बच्चे के साथ अपनी तस्वीरें शेयर करते हुए लिखा है कि 'आज हमारे घर पर विशेष अतिथि आया है, ये हैं एल मायान नोंगबरी। इनकी उम्र 5 वर्ष तथा ये अपने पिग्गी बैंक के साथ उसमें जमा राशि मुख्यमंत्री रिलीफ फंड में जमा कराने आए हैं।'