तब्लीगी जमात और मरकज के प्रमुख मौलाना साद ने एक नया ऑडियो रिलीज किया है, जिसमें साद कह रहे हैं कि आपके पास धैर्य का होना बेहद जरूरी है। धैर्य से ही आप अपनी परेशानी का समाधान पा सकते हैं। परेशानी दो तरह की है। पहला जो आपके अंदर है और दूसरा बाहर। शासक का काम होता है कि वो अपने अनुयायियों को आगे लाने के लिए प्रोत्साहित करे, लेकिन वे मुकाबले की बात कर रहे हैं, इससे दूरियां बढ़ेंगी। इस्लाम के मुताबिक सरकार लोगों के अधिकारों को दबा रही है। यह तरीका ठीक नहीं है, क्योंकि अगर आप उनके साथ संघर्ष करते हैं, तो उन्हें लगता है कि आप उनसे बदला ले रहे हैं और अगर आप उनका समर्थन करते हैं तो वो मानते हैं कि हमने उनके सामने घुटने टेक दिए।

गैर-इरादतन हत्या व ईडी ने दर्ज किया मामला

गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस ने जमात के मौलाना मोहम्मद साद समेत कई लोगों पर गैर-इरादतन हत्या का केस दर्ज किया है। इसके अलावा गुरुवार को ही साद के खिलाफ ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) ने भी धनशोधन रोकथाम कानून के तहत मामला दर्ज किया है। वित्तीय जांच एजेंसी को संदेह है कि मौलाना साद के संगठन की ओर से विदेशों से बड़ी मात्रा में धन प्राप्त किया गया और सरकार के समक्ष इसका खुलासा नहीं किया।

बता दें, पिछले महीने दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में स्थित मरकज में तबलीगी जमात का एक कार्यक्रम हुआ था। इस कार्यक्रम में शामिल जमात के कई लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए। वहीं जिन राज्यों में जमात के लोग वापस गए, वहां इनके संपर्क में आने से कई अन्य लोग भी इस संक्रमण के शिकार हो गए। इसके बाद देश में कोरोना मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ने लगी। जमात में शामिल 1890 विदेशी नागरिकों के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया गया है। पुलिस का कहना है कि इन लोगों ने वीजा नियमों का उल्लंघन किया था और कार्यक्रम में शामिल हुए थे। पुलिस ने मरकज से 2300 से अधिक लोगों को बाहर निकाला था, जिनमें 500 से अधिक विदेशी थे।