NRC के पहली ड्राफ्ट लिस्ट जारी होने में अब सिर्फ 2 ही दिन बाकि है लेकिन इससे पहले ही पूरे राज्य में फैली अशांति को महसूस किया जा सकता है असम में लगातार तनाव बढ़ता जा रहा है.


लेकिन इससे पहले दरंग जिला के धुला पुलिस ने अभियान चलाकर एक ऐसे गैंग का पर्दाफाश किया है जो फर्जी प्रमाण पत्र बना रहा था पुलिस ने इस कार्य में लिप्त तीन जालसाजों को गिफ्तार कर अदालत में पेश किया जहां से उन्हें तीन दिन की पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है.


पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस गैंग का नेटवर्क पुरे राज्य में फैला हुआ है और इस चापारी अंचल से पूरे राज्य में अपने एजेंट के दवरा नेटवर्क चलाता  था पुलिस पुरे मामले की जांच कर रही है हुए साथ ही यह जानने की कोशिश कर रही है कि यह गैंग कब से इस फर्जीवाड़े का काम कर रही है और अब तक कितने लोगो को इस फर्जी गैंग ने प्रमाण पात्र बांटे गए हैं.


इसके साथ ही गिरफ्तार तीनों आरोपियों ने आपने अपराध मान लिए हैं और  है कि वे दो वर्षों से इस तरह का जाली प्रमाणपत्र बनवा रहे थे और एक प्रमाण के बदले 500 रूपये लिया करते थे. पुलिस ने तीनों आरोपियों के ऊपर 520/2017 धारा 467/472/420 IPC के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.