मणिपुर में संदिग्ध कुकी आतंकवादियों ने नागा समुदाय के ड्राइवर का अपहरण कर लिया है जिससे इलाके में सांप्रदायिक तनाव पैदा हो गया है. अगवा हुए व्यक्ति के कस्बे माओ के निवासियों ने इस घटना के खिलाफ सड़क पर विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है. उन्होंने वाहनों का आवागमन रोककर राजमार्ग को जाम कर दिया है.


मणिपुर पुलिस और 26 असम राइफल्स के जवानों द्वारा चलाए गए संयुक्त अभियान में शनिवार को एक नए उग्रवादी संगठन का पर्दाफाश हुआ है।
इस नए उग्रवादी संगठन का नाम चिंगताम लिबरेशन आर्मी है। अभियान के दौरान तीन उग्रवादियों को भी गिरफ्तार किया गया है। साथ ही संगठन द्वारा अपहृत ट्रक ड्राइवर को भी मुक्त करा लिया गया है।


इंफाल पूर्वी जिले के पुलिस अधीक्षक कबीब के अनुसार चिंगताम लिबरेशन आर्मी ने गुरुवार की रात एक ट्रक चालक ए. अखिखो का अपहरण कर लिया था। इन लोगों ने चालक को छोड़ने के लिए 13 लाख रुपये की फिरौती की मांग की थी। उग्रवादियों ने अखिखो का अपहरण सेनापती जिले के मोटबंग से किया था।


कबीब ने बताया कि खुफिया सूचना के आधार पर, संयुक्त टीम ने तलाशी अभियान चलाया, जिसमें चालक को अपहरणकर्ताओं के चंगुल से मुक्त करा लिया गया और तीन उग्रवादियों को भी गिरफ्तार किया गया।


तलाशी अभियान के दौरान चीन निर्मित 9 एमएम पिस्तौल, चार मोबाइल हैंडसेट और एक स्कूटर जब्त किया गया है। अखिखो की रिहाई की मांग को लेकर राजमार्ग जाम करने का आह्वान शुक्रवार अपराह्न वापस ले लिया गया।