मौसम विभाग के अनुसार, दिल्‍ली-एनसीआर सहित उत्‍तर-पश्चिम भारत के लोगों को अभी ठंड से राहत नहीं मिलने वाली। आने वाले तीन-चार दिनों तक उत्तर-पश्चिम भारत के कुछ हिस्सों में घना से बहुत घना कोहरा छाया रहेगा। मौसम विभाग का पूवार्नुमान है कि अगले दो दिनों के दौरान पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और राजस्थान में अलग-अलग इलाकों में कड़के की ठंड पड़ेगी। अगले 24 घंटों में पूर्वी राजस्थान के अलग-अलग इलाकों में शीत लहर की संभावना है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार अगले दो दिनों के दौरान पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, मध्य प्रदेश और राजस्थान में अलग-अलग हिस्सों में रात या सुबह के घंटों में घना से बहुत घना कोहरा छाया रहेगा। अगले चार दिनों के दौरान पूर्वी उत्तर प्रदेश में और 18 से 20 जनवरी के दौरान ओडिशा और झारखंड में घना कोहरा छाया रहेगा। IMD ने कहा कि रविवार से शुरू होकर एक के बाद एक, दो पश्चिमी विक्षोभों से पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र प्रभावित होगा। आईएमडी ने कहा, चक्रवाती हवा पश्चिमी उत्तर प्रदेश और आसपास के क्षेत्रों को प्रभावित कर सकती है। दक्षिण कोंकण और पड़ोस में चक्रवाती हवा औसत समुद्र तल से 1.5 किमी और 2.1 किमी के बीच चलती देखी गई है।

मौसम विभाग ने कहा, ताजा पश्चिमी विक्षोभ 16 जनवरी से पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र को प्रभावित करेगा। 18 जनवरी से एक और पश्चिमी विक्षोभ उत्तर पश्चिम भारत को प्रभावित कर सकता है। बुलेटिन में कहा गया है कि 17 जनवरी तक तटीय आंध्र प्रदेश में और अगले चार से पांच दिनों के दौरान रायलसीमा, तमिलनाडु, केरल और माहे में छिटपुट या मध्यम वर्षा होगी। रविवार को तटीय आंध्र प्रदेश में बिजली कौंधने के साथ छिटपुट बारिश होगी या गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में अलग-अलग जगहों पर हल्की या मध्यम वर्षा होने की संभावना है। आईएमडी ने भी 19 जनवरी तक पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र में छिटपुट या मध्यम वर्षा की भविष्यवाणी की है।