त्रिपुरा की राजधानी अगरतला में तुफानियालुंगा इलाके के पास प्रतिबंधित सामानों से लदी एक गाड़ी जब्त की गई है। बताया जा रहा है कि इस गाड़ी से बड़ी मात्रा में कफ सिरप बरामद किया गया है, जिसे तस्करी के लिए ले जाया जा रहा था। SDPO पिया माधुरी मजूमदार ने कहा, “हमने करीब 12 लाख रुपये की खांसी की दवाई की लगभग 3,100 बोतलों से लदी एक गाड़ी जब्त की है, जिनकी तस्करी की जानी थी। हालांकि इस मामले में अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हो सकी है लेकिन जांच जारी है।”

एक विशेष गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए गाड़ी को जब्त कर पुलिस स्टेशन ले आई है। मजूमदार ने कहा, “खेप की तस्करी की गई थी और इसे अगरतला और उसके आसपास के इलाके में वितरित किया जाना था।” कफ सिरप ड्रग रैकेट के लिए एक बड़ी फायदेमंद चीज मानी जाती है क्योंकि ये उन युवाओं में बहुत लोकप्रिय है जो शराब के विकल्प के रूप में इसका सेवन करते हैं। शराबबंदी के बाद नशे के आदी युवकों ने शराब के विकल्प के रूप में कई लिक्विड दवाओं इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है।

इन दवाओं में क्लोरोफिनारमिन मीलेट और कोडीन फास्फेट जैसे तत्व पाए जाते हैं, जिनका ऑवर डोज में सेवन करने से शरीर पर नकारात्मक असर पड़ता है। मजूमदार ने कहा, “हालांकि पुलिस वाहन के ड्राइवर को गिरफ्तार नहीं कर सकी, लेकिन उन्हें विश्वास है कि वे वाहन के रजिस्ट्रेशन नंबर के साथ उसके बारे में सभी जानकारी प्राप्त कर लेंगे और ड्रग रैकेट तक पहुंच जाएंगे।” अगरतला में 24 घंटों से भी कम समय में नशीले पदार्थ बरामद होने की यह दूसरी घटना है। इससे पहले, गुरुवार की रात NCC थाना पुलिस ने राजधानी से 10 लाख रुपये मूल्य की ब्राउन शुगर और कफ सिरप की बोतलों के साथ सात नशा तस्करों को गिरफ्तार किया था।