अगरतला। अगरतला उपचुनाव में कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार और भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के पूर्व मंत्री सुदीप राय बर्मन पर रविवार देर रात अज्ञात व्यक्ति ने हमला किया जिससे वह घायल हो गए। बर्मन को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना के बाद शहर में तनाव बढ़ गया है। गौरतलब है कि यह घटना सत्तारूढ़ भाजपा के कुछ वरिष्ठ नेताओं की कथित मौजूदगी में हुई, जहां भीड़ में मौजूद एक अज्ञात हमलावर ने श्री बर्मन को निशाना बनाते हुए उन पर पत्थर से हमला किया। उनके चेहरे पर पत्थर लगने से आंख, दांत और नाक की हड्डी पर चोटें आई है और उनको तत्काल अस्पताल में उपचार के लिए ले जाया गया। अस्पताल में उनका उपचार कर रहे डॉक्टर ने बताया, '' राय बर्मन की स्थिति खतरे से बाहर है और उनका इलाज चल रहा है।

यह भी पढ़े : थाना प्रभारी सहित नगांव में बाढ़ में बहे दो पुलिसकर्मी, एक की मौत

हालांकि उनको और एक दिन अस्पताल में रहने के साथ-साथ कुछ दिनों के लिए आराम करने की जरूरत होगी। बारडोली से कांग्रेस उम्मीदवार और पूर्व भाजपा विधायक आशीष कुमार साहा ने आरोप लगाया कि कांग्रेस नेता आलोक गोस्वामी के आवास पर भाजपा के गुंडों के द्वारा हमला करने के बाद करीब 11 बजे रात को गोस्वामी के एक आपातकाल फोन कॉल पर राय बर्मन और अन्य दो को पीएसओ जाना पड़ा। साहा ने आरोप लगाया, घटना स्थल पर पहुंचने के बाद नशे में धुत भाजपा के कार्यकर्ताओं ने श्री सुदीप राय बर्मन पर पथराव शुरु कर दिया। इस दौरान बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी, सूचना मंत्री और निर्वाचन क्षेत्र के चुनाव प्रभारी सुशांत चौधरी तथा भाजपा के उम्मीदवार डॉ. अशोक सिन्हा मौजूद रहे। मौके पर मौजूद बर्मन के सुरक्षा अधिकारियों और चालक ने उनको वाहन में बैठाया तो असमाजिक तत्वों ने उनकी कार पर भी पत्थर फेंके। 

यह भी पढ़े : अग्निपथ योजना पर "फर्जी खबर" फैलाने के लिए केंद्र ने 35 व्हाट्सएप ग्रुप पर प्रतिबंध लगाया

उल्लेखनीय है कि सूचना मंत्री चौधरी ने सभी आरोपों को निराधार बताते हुए कहा, 'भाजपा के मंडल अध्यक्ष हीरालाल देबनाथ के घर पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं के हमले और अफरा तफरी की सूचना मिलने पर हम मौके पर पहुंचे। उनके पास कुछ हथियार धारी गुंडे थे, जिसके कारण स्थिति नियंत्रण से बाहर हो गयी और इसी दौरान एक पत्थर रायबर्मन को लग गयी।' त्रिपुरा प्रदेश कांग्रेस समिति, टिपरा मोथा प्रमुख और शाही वंशज प्रद्योत किशोर देबबर्मन, माकपा राज्य समिति, तृणमूल कांग्रेस ने सुदीप राय बर्मन पर हुए इस हमले की निंदा की है और अपराधियों को तत्काल गिरफ्तारी और 23 जून को होने वाले उप चुनाव की पारदर्शितापूर्ण और निष्पक्ष चुनाव की मांग की है।