अगरतला। केंद्रीय मंत्री प्रतिमा भौमिक ने सीपीएम पर जोरदार हमला बोला है। उन्होंने सीपीएम पर हिंदुओं और मुस्लिमों को बांटने का आरोप लगाया है। भौमिक ने कहा कि सीपीएम ने कई सालों तक त्रिपुरा पर शासन करने के लिए हिंदुओं और मुसलमानों को विभाजित किया।

यह भी पढ़ें: रिपोर्ट में बड़ा खुलासाः असम के 95 प्रतिशत युवा साइबर धमकी के कारण मानसिक रूप से परेशान

भौमिक सेपाहिजाला के सोनामुरा सोमवार को एक कार्यक्रम में शामिल हुईं। इस दौरान उन्होंने कहा कि भाजपा दो समुदायों को बांटने में भरोसा नहीं रखती है, क्योंकि पार्टी का मंत्र है 'सबका साथ, सबका विश्वास।' भौमिक ने आगे कहा, 'विपक्षी दल सीपीएम भाजपा को हमेशा अल्पसंख्यक विरोधी पेश करने की कोशिश करता रहा है। उन्होंने राज्य पर सालों तक राज करने के लिए हिंदुओं और मुस्लिमों के बीच विभाजन किया। अब उन्हें करारा जवाब देने का वक्ता आ गया है।

भौमिक ने ये भी कहा कि सीपीएम ने सामाजिक-आर्थिक विकास के मामले में इस जगह की अनदेखी की। यहां अल्पसंख्यों की आबादी अधिक है। भौमिक ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि वह भाजपा का समर्थन करें और यहां अधिक विकास सुनिश्चित करें।

यह भी पढ़ें: असमः बीमारी से प्रेमिका का निधन हुआ, प्रेमी ने लगाया सिंदूर, कहा- किसी और से नहीं करूंगा शादी

केंद्रीय मंत्री ने ये भी कहा कि भाजपा सरकार ने त्रिपुरा के विकास के लिए कई काम किए हैं। हाल ही में केंद्र सरकार ने त्रिपुरा के गोमती जिले में माताबाड़ी को बांग्लादेश में कोमिला से जोड़ने वाली एक अंतरराष्ट्रीय सड़क को मंजूरी दी है। उन्होंने कहा कि सेपाहिजाला में मेलाघर और श्रीमंतपुर के रास्ते सड़क का निर्माण होगा। उन्होंने कहा कि केंद्र ने पहले ही सड़क को मंजूरी दे दी है, काम जनवरी 2024 तक पूरा होने वाला है।

त्रिपुरा में अगले साल विधानसभा चुनाव होंगे। 2018 के विधानसभा चुनावों में भाजपा ने 60 में से 36 सीटें जीतकर सरकार बनाई थी, जबकि सीपीएम के नेतृत्व वाली वाम मोर्चा सरकार का 25 साल बाद सूपड़ा साफ हो गया था।