त्रिपुरा की एक युवक सुमन देबनाथ ने हाल ही में चांद पर एक एकड़ जमीन 6000 रुपए में खरीदने का दावा किया है। दक्षिण त्रिपुरा जिले के सबरूम के रहने वाले सुमन पूर्वोत्तर के पहले व्यक्ति होने का दावा करते हैं, जिन्होंने चांद पर जमीन खरीदा है।

बता दें कि सुमन को ईमेल के माध्यम से सभी आवश्यक दस्तावेजों की सॉफ्ट कॉपी भी प्राप्त हो चुकी है, जिसे न्यूयॉर्क स्थित इंटरनेशनल लूनर लैंड्स रजिस्ट्री (आईएलएलआर) द्वारा जारी किया गया है। संपत्ति पंजीकरण प्रमाण पत्र में भूमि के स्थान को उसके देशांतर और अक्षांश का उल्लेख कर किया गया है।

प्रमाण पत्र के अनुसार भूमि 'मारे न्यूबियम' में स्थित है। 'मारे न्यूबियम' का व्यास 750 किलोमीटर है, और इसे चंद्रमा पर सबसे प्राचीन गोलाकार घाटियों में से एक माना जाता है। इंटरनेशनल एस्ट्रोनॉमिकल यूनियन (IAU) फीचर नाम का अर्थ है "सी ऑफ क्लाउड्स"। यह चंद्रमा के चेहरे के तीसरे चतुर्थांश में स्थित एक गहरा मैदान है।

मीडिया से बात करते हुए, सुमन ने कहा कि उन्हें इस मामले के बारे में तब पता चला जब कई हस्तियों ने चांद में जमीन खरीदी थी। जिज्ञासु होने के कारण, उन्होंने इसे समझने के लिए वेब पर भी खोज की और पता चला कि ILLR वह एजेंसी है जो चंद्रमा की भूमि की रजिस्ट्री कर रही है।

सुमन ने यह जानकर प्रसन्नता व्यक्त की कि उन्हें भूखंड के मालिक होने के लिए एक बड़ा पैसा खर्च करने की आवश्यकता नहीं पड़ी, इसके लिए उन्हें सिर्फ 6000 रुपए का भुगतान किया।