राज्यपाल आर के बैस ने त्रिपुरा जनजातीय क्षेत्र स्वायत्त जिला परिषद (टीटीएएडीसी) में अपने शासन की अवधि और छह महीने के लिए बढ़ा दी है। एक अधिसूचना में यह जानकारी दी गई। 

अधिसूचना में राज्यपाल ने कहा कि ऐसी स्थिति उत्पन्न हो गई है कि संविधान की छठी अनुसूची के प्रावधानों के अनुसार टीटीएएडीसी का प्रशासन नहीं चलाया जा सकता। विपक्षी पार्टी वाम मोर्चा द्वारा चलाई जा रही तीस सदस्यीय जनजातीय परिषद का कार्यकाल 17 मई को समाप्त हो गया था। 

हालांकि राज्य निर्वाचन आयोग ने कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए चुनाव नहीं कराया था। इसके बाद राज्य मंत्रिमंडल ने निर्णय लिया था कि टीटीएएडीसी की समिति को 17 मई को भंग कर दिया जाए और राज्यपाल अगले चुनाव तक इसका कार्यभार संभाले। 

अधिसूचना में कहा गया कि अभी तक चुनाव न होने और राज्यपाल का शासन मंगलवार को समाप्त होने की स्थिति में, टीटीएएडीसी के सभी अधिकार और शक्तियां 18 नवंबर से और छह महीने के लिए राज्यपाल के पास रहेंगी।