अगरतला : चिकित्सकीय लापरवाही के कारण हुई मौतों की सूची में त्रिपुरा पूर्वोत्तर के आठ राज्यों में सबसे ऊपर है।  29 अगस्त को जारी राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) की वार्षिक रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है। एनसीआरबी की रिपोर्ट में त्रिपुरा में चिकित्सकीय लापरवाही से हुई मौतों की दो घटनाओं का जिक्र किया गया है।

यह भी पढ़े : 19 वर्षीय महिला ने दिया जुड़वां बच्चों को जन्म, लेकिन दोनों के पिता अलग, जानिए इस चौंकाने वाले मामले के बारे में 


दूसरी ओर पूर्वोत्तर राज्यों में दहेज के मुद्दों से संबंधित मौतों की सूची में असम सबसे ऊपर है। असम में 2021 में दहेज हत्या के 198 मामले दर्ज किए गए।

पूर्वोत्तर में दहेज हत्या के मामलों में 22 मौतों के साथ त्रिपुरा ने असम का अनुसरण किया। 2021 के आंकड़ों से यह भी पता चला है कि असम ने 1269 पीड़ितों के साथ हत्या के 1192 मामले दर्ज किए।

यह भी पढ़े : 71वें इंटरनेशनल शतक के बाद रोहित ने लिया विराट का इंटरव्यू ,आप भी देखिए ये मजेदार Video


2021 के दौरान हत्या के कुल 1955 मामले दर्ज किए गए, जो देश में 2020 (1849 मामलों) से 5.7 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है। दर्ज की गई अपराध दर भी 2020 में 1.6 से बढ़कर 2021 में 1.7 हो गई है।