पूर्वोत्तर राज्य त्रिपुरा (Tripura) अब अनानास और कटहल मिशन (टीपीजेएम) मिशन (pineapple, jackfruit mission) शुरु करने जा रहा है। इसके लिए 153 करोड़ रुपए का बजट रखा गया है। यह योजना अगले 5 सालों के लिए बनाई गई है। बता दें कि कुल बजट में से राज्य सरकार 10 करोड़ रुपए का निवेश करेगी।, जबकि शेष राशि की व्यवस्था विभिन्न चैनलों- उत्तर पूर्वी परिषद (एनईसी) (NEC), डोनर, त्रिपुरा ग्रामीण आजीविका मिशन (Tripura Rural Livelihood Mission ) (टीआरएलएम), केंद्रीय विशेष सहायता और विश्व बैंक से की जाएगी।

ये भी पढ़ें

इस महाशिवरात्रि पर करें ये टोटके, बदल जाएगी किस्मत, पूरी होगी सभी इच्छाएं

यह पहली बार है कि त्रिपुरा बांस मिशन (टीबीएम) (Tripura Bamboo Mission) के बाद राज्य सरकार ने अनानास और कटहल को बढ़ावा देने के  मिशन शुरु किया है। टीपीजेएम (TPJM ) को लागू करने के लिए उद्योग एवं वाणिज्य विभाग को नोडल विभाग बनाया गया है लेकिन मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक परियोजना निगरानी समिति होगी। राज्य सरकार अनानास और कटहल (pineapple and jackfruit) दोनों के उत्पादन को बड़े पैमाने पर बढ़ाना चाहती है। राज्य ने पहले ही पड़ोसी देश बांग्लादेश के अलावा ब्रिटेन और जर्मनी जैसे यूरोपीय देशों को अनानास और कटहल (pineapple and jackfruit) का निर्यात करना शुरू कर दिया है। अब तक, 8,800 एकड़ भूमि में अनानास और 8,929 हेक्टेयर में कटहल की खेती होती है। सरकार फसलों के उत्पादन और फसलों के मूल्यवर्धन दोनों को बढ़ाना चाहती है। उद्योग और वाणिज्य सचिव पीके गोयल ने बुधवार को कहा कि हमें बेहतर रिटर्न सुनिश्चित करने के लिए कोल्ड स्टोरेज और मार्केटिंग लिंकेज बनाना होगा।

ये भी पढ़ें

कक्षा 10 व 12 की ऑफ़लाइन बोर्ड परीक्षा रद्द करने की मांग वाली याचिका खारिज, 26 अप्रैल से होंगी बोर्ड परीक्षाएं

उन्होंने कहा कि अभी हम दो बागवानी फसलों की निर्यात मांग को नहीं जानते हैं। एक बार मिशन शुरू हो जाने के बाद इस मुद्दे पर विचार-विमर्श किया जाएगा और उसी के अनुसार लक्ष्य तय किया जाएगा। हम कलेक्शन से लेकर पैकेजिंग और मार्केटिंग लिंकेज तक वैल्यू एडिशन चाहते हैं। गोयल ने आगे कहा कि राज्य मंत्रिमंडल ने मंगलवार को हुई अपनी पिछली बैठक में टीपीजेएम के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है, जिसे आधिकारिक तौर पर 1 अप्रैल को लॉन्च किया जाएगा।